न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

साहेबगंज: प्रखंड कायार्लय से 50 मीटर की दूरी पर एक व्यक्ति की भूख से हुई मौत

न प्रशासन ने सुध ली, न सरकार ने

713

SahIbganJ: आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत के दो दिन बाद झारखंड में एक व्यक्ति की भोजन और इलाज के अभाव में हुई मौत से कई सवाल खड़े हो रहे हैं. न तो उसे खाने को कुछ मिला और न ही कहीं इलाज नसीब हुआ. न प्रशासन ने सुध ली न सरकार ने चिंता दिखायी. मामला साहेबगंज का है. साहेबगंज में प्रखंड कायार्लय के 50 मीटर की दूरी पर हटिया परिसर के बाहर बने नाला के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा हुआ था. वह चार-पांच दिन से वहीं भूखे-प्यासे पड़ा हुआ था. कहां से आया और कौन है यह कोई नहीं जानता. शरीर के ऊपरी भाग में कोई कपड़ा नहीं था. भले ही सरकार औऱ प्रशासन ने उसकी सुध नहीं ली, पर वहीं के स्थानीय निवासी गुलाम सरवर पिछले चार-पांच दिनों से उसकी देखभाल कर रहे थे.

eidbanner

इसे भी पढ़ें – प्रधानमंत्री के दावे को गलत साबित कर रहा है सरकार का ही आंकड़ा

पिछले एक महीने से नहीं मिला था भोजन, इशारे से खाना मांगा

गुलाम सरवर ने बताया कि इसे चार दिन पहले देखा था. ठीक मेरे घर के सामने आकर यह व्यक्ति सो गया. मैंने देखा कि यह देखने में काफी कमजोर था, तो मुझे लगा कि यह व्यक्ति बीमार है. मैं उसके पास गया और पूछा कौन हो कहां से आये हो, वह कुछ नहीं बोला. बस इशारा से उसने खाना मांगा. मैं घर गया और उसके लिए खाना लेकर आया पर वह भूख से इतना टूट चुका था कि उसने एक निवाला खाया और छोड़कर वहीं सो गया. उसके बाद मैंने सुबह उसे अस्पताल ले जाने की व्यवस्था की. चार-पांच लोगों ने मेरी मदद की, लेकिन वह अस्पताल जाने की स्थिति में नहीं था. तो हमलोग उसे वहीं छोड़कर उसका ख्याल रखने लगे, लेकिन वह व्यक्ति खाना नहीं खा पा रहा था. काफी पूछने पर उसने इतना कहा कि एक महीने से कुछ नहीं खाया है. मंगलवार को वह उसी नाले के पास तड़प-तड़प मर गया.

इसे भी पढ़ें – RSSऔर सरकार के कार्यक्रम ‘लोकमंथन’ पर खर्च होंगे चार करोड़, व्यवस्था में लगाये गये पांच…

कोई गरीब की सुननेवाला नहीं

गुलाम सरवर ने कहा कि कोई गरीब का सुनने वाला नहीं. इतना कह कर उनकी आँखें डबडबा गयीं. आसपास की महिलाओं ने बताया की यहां से प्रखंड कार्यालय की दूरी महज 50 मीटर है. जिस राज्य में 5 रुपये में दाल-भात योजना चलती है, एक रुपये किलो गरीबों को अनाज मिलता है, उसी राज्य में नाले के पास एक व्यक्ति की भूख से तड़प कर मौत हो जाती है.

इसे भी पढ़ें – सरकार की एंबुलेंस सेवा व्यवस्था लचर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: