JharkhandLead NewsPalamu

पलामू में वज्रपात से पॉकेट में रखा मोबाइल फटा, किशोर की मौत

लातेहार में महिला की गयी जान

Palamu/Latehar : पलामू और लातेहार में पिछले 24 घंटे के दौरान वज्रपात से एक किशोर समेत दो की मौत हो गयी. पलामू जिले के सतबरवा में वज्रपात से पॉकेट में रखा मोबाइल फटने से किशोर की जहां मौत हुई, वहीं लातेहार ज़िले के महुआडांड़ प्रखंड के नेतरहाट थाना क्षेत्र में बारिश के पानी से बचने के लिए छिपी एक महिला की मौत हो गयी, जबकि तीन अन्य जख्मी हैं.

पलामू जिले के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया में वज्रपात के दौरान पैंट के पॉकेट में रखे मोबाइल में विस्फोट हो गया, जिससे रशीद अंसारी के एकलौते पुत्र मोहम्मद अरबाज (10) की मौत हो गयी. वह अपने घर के पीछे घोरान घोरने के दौरान अपने परिजनों को मदद कर रहा था. इसी बीच बारिश के साथ वज्रपात हुआ, जिससे किशोर के पॉकेट में रखे मोबाइल विस्फोट हो गया और किशोर की मौत मौके पर ही झुलसने से हो गयी. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वज्रपात के कारण पॉकेट में रखे मोबाइल के परखच्चे उड़ गये.

इसे भी पढ़ें:झारखंड में उत्पादक कंपनियों पर करोड़ों का बकाया, सालाना छह हजार करोड़ के नुकसान में निगम

Catalyst IAS
ram janam hospital

उधर, लातेहार ज़िले के महुआडांड़ प्रखंड के नेतरहाट थाना क्षेत्र में बुधवार की शाम मूसलाधार बारिश के दौरान हुए वज्रपात में एक महिला की मौत हो गयी जबकि तीन अन्य घायल हो गये. बुधवार की शाम मानसून की मूसलाधार वर्षा से प्रखंड मे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

स्थानीय लोगों के अनुसार पहाड़ कापू की अकिदा बीबी (34) कब्रिस्तान स्थित घर के पानी से बचने के लिए खड़ी थी. इसी बीच वज्रपात होने से घटनास्थल पर ही मौत हो गई. जबकि एक किलोमीटर दूरी पर कापू नदी स्थित मिर्चा बगान में मजदूरी का कार्य कर रहे कापू निवासी अजमत अंसारी (38), आमना खातून (14) और साहिन खातून (15) अचानक मूसलाधार बारिश शुरू होने पर एक घर में छिप गये. जहां इस दौरान हुए वज्रपात के झटके से घायल हो गये. सभी घायलों का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महुआडांड़ में जारी है.

इसे भी पढ़ें:पूर्व मंत्री योगेंद्र साव व निर्मला देवी पर लगे आरोपों की जांच करेगी सीआईडी, अंबा ने उठाया था मामला

जानकारी के अनुसार ग्रामीणों ने घायलों को पहले पास के गोबर मांद में गाड़ दिया. वहीं मृतअकिदा बीबी को भी गोबर में गाड़ा गया. फिर सभी को देर रात सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महुआडांड़ लाया गया. इस संबंध में डॉक्टर देवदास ने बताया कि अकिदा बीबी की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी थी. वहीं तीनों घायलों का इलाज चल रहा है. वे खतरे से बाहर हैं.

इसे भी पढ़ें:मुख्यमंत्री ने 2573 लाभुकों के बीच 1767.10 लाख रुपये की परिसंपत्ति का वितरण किया

Related Articles

Back to top button