JamshedpurJharkhand

चाकुलिया में रेलवे फाटक से गुजरा हाथियों का दल, 35 हाथी हैं झुंड में, गजराज ‘राकेट’ से दहशत में हैं लोग

Chakulia : पिछले एक सप्ताह से चाकुलिया में जंगली हाथी के उपद्रव से लोग परेशान हैं. ग्रामीणों ने उस हाथी का नाम राकेट रखा है. धान की तलाश में वह हाथी कई घरों को ढाह चुका है. इसी बीच गुरुवार की सुबह हाथियों का एक बड़ा दल भी विचरण करता देखा गया है. इससे लोगों की दहशत बढ़ गयी है. सुबह सात से आठ बजे एक झुंड, जिसमें शिशुओं समेत करीब 30-35 हाथी हैं, पश्चिम बंगाल की सीमा से सटे चाकुलिया के सुनसुनिया साल वन से निकल कर रेलवे फाटक पार कर राजाबासा गांव की ओर चला गया. यह फाटक रेलवे स्टेशन से पांच किलोमीटर पश्चिम में है. वन विभाग ने रेलवे को रेलवे ट्रैक के आसपास आवागमन की सूचना दे दी है. चाकुलिया के वन क्षेत्र पदाधिकारी दिग्विजय सिंह ने कहा कि रेलवे के अधिकारियों से कहा गया है कि वहां से गुजरने वाली ट्रेनों की गति सीमा कम करने को कहा गया है. गौरतलब है कि वर्ष 2020 में सुनसुनिया जंगल में ही ट्रेन से कटकर एक हाथी की मौत हो गयी थी. वर्ष 2018 में भी झाड़ग्राम से गिधनी के बीच ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस से कटकर तीन हाथियों की मौत हुई थी. इधर राकेट नामक हाथी चाकुलिया के ग्रामीण इलाकों में आधी रात को घुसता है और सुबह चार बजे तक घूम-घूम कर घरों और अनाज को नुकसान पहुंचाता है. यह हाथी नागानल मंदिर समेत कई जगहों पर चहारदीवारी और ग्रामीणों का घर तोड़ चुका है.

इसे भी पढ़ें – कोरोना बना जानलेवा, नौ साल के बच्चे और युवती समेत पांच की मौत

Advt

Related Articles

Back to top button