न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दो नाबालिग बहनों से दुष्कर्म का मामला बच्चे के जन्म के बाद सामने आया,  एक आरोपी गिरफ्तार

तू इलाके की दो नाबालिग सगी बहनों से दुष्कर्म का मामला सामने आया है.

840

 Ranchi : रातू इलाके की दो नाबालिग सगी बहनों से दुष्कर्म का मामला सामने आया है. यह मामला तब सामने आया, जब दोनों में से एक नाबालिग ने शुक्रवार की देर रात एक बच्चे को जन्म दिया. इसकी जानकारी मीडिया और पुलिस को हुई. इसके बाद पीड़िता ने अपने साथ हुई पूरी वारदात की जानकारी दी. जिस पीड़िता ने बच्चे को जन्म दिया है उसकी उम्र 16 वर्ष है. छोटी बहन 15 वर्ष की है. 16 वर्षीय पीड़िता ने बताया कि करीब एक वर्ष पहले रातू के बुलेज अंसारी ने स्कूल से घर लौटने के क्रम में पकड़ लिया उसे स्कूल के पीछे एकांत जगह ले जाकर दुष्कर्म किया. इसके बाद बुलेज बोला कि तुमसे शादी कर लूंगा.

इसी तरह छोटी बहन से फुटकल टोली निवासी मोजीम अंसारी ने दुष्कर्म किया. बुलेज और मोजीम दोनों आपस में परिचित है. दोनों ने मिलकर हम दोनों बहनों की जिंदगी बर्बाद कर दी. घटना सामने आने के बाद कांके पुलिस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची, जहां पीड़िता ने बच्ची को जन्म दिया था. पुलिस ने बयान लेकर रातू थाना को भेज दिया. इसके बाद पुलिस ने आरोपित बुलेज अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है.

इसे भी पढ़ें- मिजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान परवान पर, निधि खरे खुद कर रही हैं मॉनिटरिंग

hosp1

दूसरी बहन का नहीं लिया गया बयान

छोटी बहन का पुलिस ने बयान नहीं लिया है वह भी नारी निकेतन में भर्ती है. वह गर्भवती है. पीड़िता के पिता के मुताबिक  पुलिस को उन्होंने छोटी बेटी के मामले में केस कर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है, लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है.

इसे भी पढ़ें- गिरिडीह: गांडेय बीडीओ के घर में घुस कर अपराधियों ने गोली मारी

पुलिस व पंचायत पर लीपापोती का आरोप

पीड़िता के अनुसार घटना के बाद पूरे परिवार के साथ वह इसी वर्ष अप्रैल माह में रातू थाना पहुंची थी. इस पर रातू पुलिस ने एक पंचायत में मामला सुलझाने के लिए भेज दिया था. पीड़िता व उसके पिता फुटकल टोली के सदर के पास पहुंचे थे. कहा गया कि सदर ने आरोपित का सहयोग करते हुए मामले में लीपापोती कर दी. इससे वह भटकती रही. पिता एक गैरेज में काम करते हैं मां घरों में दाई का काम करती है. गरीबी की वजह से थाना से लेकर पंचायत तक के लोगों ने अनदेखी की.

इसे भी पढ़ें- “सिंह मेंशन को टेंशन” देने में पहली बार उछला ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ का नाम

घर में घुसकर की थी मारपीट

मामला पुलिस के पास पहुंचने के बाद पीड़िता के परिवार वालों के साथ मारपीट करने आरोपित पक्ष के लोग पहुंच गये. इसके बाद घर में अकेली पाकर पीड़िता की बड़ी बहन से मारपीट की गई. धमकी भी दी गयी. सूचना मिलने पर रातू पुलिस पहुंची इससे पहले सभी भाग चुके थे.

निर्मल ह्रदय संस्था पहुंची थी दोनों पीड़िताएं

पूर्व में दोनों को आरोपित पक्ष के लोगों ने सदर अस्पताल गर्भपात कराने के लिए भेजा था. अस्पताल की नर्सों ने गर्भपात करने से मना करते हुए निर्मल हृदय भेज दिया. निर्मल हृदय में बच्चों की बिक्री प्रकरण सामने आने के बाद उसे नहीं रखा गया. इसके बाद वह   नारी निकेतन पहुंच गयी. वहीं से बच्चे का जन्म हुआ. बताया जा रहा है कि बच्चे के जन्म के बाद दो युवक अस्पताल में उसे खरीदने पहुंचे थे ,लेकिन अस्पताल कर्मियों ने उन्हें भगा दिया.

इसे भी पढ़ें- ‘सरकार की कारगुजारियां उजागार करने वाले को देशद्रोही का तमगा देना बंद करें रघुवर सरकार’

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: