JharkhandRanchiTOP SLIDER

लालू पर भारी पड़ा गुरुवार :1. बंगला छिना, 2. हाइकोर्ट में PIL, 3. पटना में FIR, 4. फोन प्रकरण में बैठी जांच, 5. बेल पिटीशन का विरोध करेगी CBI

GYAN RANJAN

Ranchi: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के लिए गुरुवार का दिन भारी रहा. एक साथ कई परेशानियों ने दस्तक दी. उनपर रांची से लेकर पटना तक कानूनी और प्रशासनिक शिकंजा कसता दिखा. शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट में उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई होनी है.

सबकी निगाहें इस सुनवाई पर टिकी हैं. कानून के जानकारों की मानें तो ताजा घटनाक्रमों का असर उनके बेल पीटिशन पर भी पड़ सकता है.

इसे भी पढ़ें – ट्रेड यूनियनों की हड़ताल : कोयला खनन और ट्रांसपोर्टिंग रहा ठप, अधिकतर बैंक बंद रहे

झारखंड हाइकोर्ट में पीआइएल

गुरूवार को लालू प्रसाद यादव के खिलाफ भाजपा नेता अनुरंजन अशोक ने जेल मैन्युअल के उल्लंघन मामले में झारखंड हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है.

भाजपा नेता ने अदालत से विधायकों को मैनेक करने को लेकर लालू के खिलाफ हॉर्स ट्रेडिंग का मामला भी दर्ज करने का आग्रह किया है.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह में नालियों के गंदे पानी को इस्तेमाल लायक बनाने की तैयारी, विधायक के प्रस्ताव को निगम बोर्ड की स्वीकृति

पटना और रांची के थाने में एफआइआर

आरोप है कि लालू यादव ने रांची में केली बंगला स्थित कैंप जेल से भाजपा विधायक ललन पासवान को फोन कर उन्हें मंत्री पद का प्रलोभन देते हुए पार्टी लाइन से इतर राजद का सपोर्ट करने का प्रलोभन दिया था.

इस मामले में गुरुवार को बिहार के भाजपा विधायक ललन पासवान ने पटना के थाने में हॉर्स ट्रेडिंग का मामला दर्ज कराया है. वहीं रांची में भी भाजपा नेता अनुरंजन अशोक अरगोड़ा थाना में मामला दर्ज करानेवाले हैं.

बंगले से निकालकर पेइंग वार्ड में शिफ्ट किये गये

अगस्त महीने में लालू यादव को रिम्स के पेइंग वार्ड से रिम्स डायरेक्टर के बंगले केली बंगला में शिफ्ट किया गया था. पिछले चार महीने से वह वहीं रह रहे थे. बिहार के विधायक से फोन से बात करने के बाद उन्हें इस बंगले से रिम्स के पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – 3 महीने से सहायक पुलिसकर्मियों को वेतन नहीं, भुखमरी की नौबत

मोबाइल प्रकरण में बैठी जांच

बिहार विधानसभा के स्पीकर के चुनाव के पहले भाजपा विधायक ललन पासवान को जेल से फोन करने की लालू प्रसाद की ऑडियो वायरल होने के बाद अब रांची जिला प्रशासन हरकत में आ गया है. जेल आइजी से मिले निर्देश के बाद अब रांची के डीसी छवि रंजन ने जेल अधीक्षक से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है.

डीसी ने जेल अधीक्षक से पूछा है कि क्या यह सच है कि लालू के मामले में जेल मैन्युअल का उल्लंघन हो रहा है. लालू प्रसाद यादव तक मोबाइल कैसे पहुंच गया, उन्होंने इसकी पूरी रिपोर्ट 24 घंटे के अंदर जमा करने के लिए कहा है.

सीबीआइ की पूरी तैयारी, नहीं मिले जमानत

शुक्रवार को लालू यादव की जमानत को लेकर फैसला आनेवाला है. सीबीआई पूरी तरह से इस तैयारी में है कि लालू यादव को जमानत नहीं मिले. सीबीआइ ने मंगलवार को अपना जवाब हाई कोर्ट में दाखिल कर दिया है.

सीबीआइ ने अपने जवाब में कहा है कि लालू यादव ने दुमका कोषागार मामले में अभी तक आधी सजा नहीं काटी है. साथ ही उसने सीआरपीसी की धारा 427 का भी मुद्दा उठाया है.

इसे भी पढ़ें – पुलिस के सामने हथकड़ी निकालकर फरार हुआ चोर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: