न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

Urban Transport की भूमि अधिग्रहण के लिए 97 करोड़ राशि स्वीकृत, पीपीपी मोड पर भी हो रहा विचार

806
  • कांके क्षेत्र के सुकूरहुटु और दुबलिया में बनाया जाना है Urban transport (ISBT/transport Nagar).
  • पीपीपी मोड पर विचार के लिए बनायी गयी है समिति.
  • जाम व प्रदूषण से भी मिलेगी मुक्ति.

Ranchi : राज्य के शहरी क्षेत्र में सुगम यातायात व्यवस्था बनाने के लिए नगर विकास विभाग ने बड़े शहरों में Urban transport (ISBT/transport Nagar) बनाने की स्वीकृति दी थी. पहले चरण में राजधानी रांची के कांके अंतर्गत सुकूरहुटु और दुबलिया में दो स्थानों का चयन किया गया है.

इऩ स्थानों पर बनने वाले Urban transport के लिए विभाग ने जमीन अधिग्रहण के लिए करीब 97 करोड़ राशि की भी स्वीकृति दे दी है. जानकारी के मुताबिक विभाग द्वारा दुबलिया में कुल 795 डिसमिल और सुकूरहुटु में कुल 866.50 जमीन अधिग्रहित किया जाना है.

योजना के लाभ को देखते हुए विभाग ने अब राज्य के बड़े शहरों में भी Urban transport बनाने का काम शुरू कर दिया है. इसके लिए विभाग निजी क्षेत्र (पीपीपी मोड) पर भी विचार कर रही है. इसके पीछे उद्देश्य यह है कि Urban transport के निर्माण कार्यों में सरकारी राशि के साथ निजी क्षेत्र की राशि का भी उपयोग किया जा सके.

जाम और ट्रैफिक समस्या से मिलेगी मुक्ति

राजधानी में बनने वाले Urban transport के निर्माण से दूसरे शहरों से आने वाले बड़े एवं भारी वाहन शहरी क्षेत्र से बाहर स्थित ISBT/transport Nagar पर ठहरेंगे. इससे शहरी क्षेत्र में बड़े एवं भारी वाहनों के कारण उत्पन्न होने वाले जाम एवं अन्य ट्रैफिक समस्या समाप्त होगी, साथ ही इन डीजल इंजन वाले वाहनों से निकलने वाले जहरीले धुएं से शहरी क्षेत्र के आमजन को निजात मिलेगा. इन बड़े एवं भारी वाहनों के कारण शहरी क्षेत्र के सड़क को भी होने वाले नुकसान से मुक्ति मिलेगी.

Related Posts

100 रुपये में #IAS बनाता है #UPSC, #Jharkhand में क्लर्क बनाने के लिए वसूले जा रहे एक हजार

झारखंड में बनना है क्लर्क तो आइएएस की परीक्षा से 10 गुणा ज्यादा देनी होगी परीक्षा फीस.

राज्यभर के लिए बनी समिति

राज्यभर के बड़े शहरों में भी ISBT/transport Nagar योजना लागू करने के लिए विभाग ने इसमें निजी क्षेत्र लाने पर विचार किया है. इसके लिए विभागीय सचिव के निर्देश पर राज्य शहरी विकास अभिकरण की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है. समिति वांछित नीति का निर्माण कर अगले दो माह में अपनी रिपोर्ट विभाग को सौंपेगी.

ये होगें समिति के सदस्य 

अध्यक्ष – राज्य शहरी विकास अभिकरण के निदेशक अमीत कुमार.
सदस्य – विभाग के संयुक्त सचिव संजय बिहारी अम्बष्ठ.
सदस्य – टाउन प्लानर संगठन के एक व्यक्ति.
सदस्य सचिव – जुडको लिमिटेड के परियोजना निदेशक (वित्त).
सदस्य – जुडको लिमिटेड के महाप्रबंधक (लोककार्य).
सदस्य – राजस्व निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के उपसचिव.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: