न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

90% भारतीय विटामिन डी की कमी से लंबे अरसे से जूझ रहे

868

Varanasi : भारत में हुए एक नए शोध में पता चला है कि पिछले दो दशक से करीब 90 फीसदी भारतीय विटामिन डी की कमी से जूझ रहे हैं. काशी हिंदू विश्वविद्यालय में आयोजित एक सत्र के दौरान नयी दिल्ली स्थित एम्स के अस्थि रोग विशेषज्ञ वैज्ञानिक डॉ. विवेक दीक्षित ने यह दावा किया. उन्होंने कहा कि हमारे शरीर में कैल्शियम जमा रहता है लेकिन विटामिन डी के प्रचुर मात्रा में ना मिलने से कैल्शियम प्रॉसेस नहीं हो पाता.

इसे भी पढ़ें- जब नाम ही बदलना है, तो ईमानदारी दिखाये भाजपा, योजनाओं का नाम रखे अडानी, जियो योजना : डॉ अजय

40 मिनट तक धूप के संपर्क में रहना जरूरी

उन्होंने कहा कि सर्वे में यह भी सामने आया है कि खेत में काम करने वाले मजदूरों, धूप में काम करने वाली गृहणियों यहां तक की अर्धसैनिक बलों में भी विटामिन डी की कमी है. हालांकि उनमें यह कमियां वंशानुगत कारणों से होती है. अन्य बड़ी वजहों में उन्होंने खाद्य पदार्थों को और परिधान को भी जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि विटामिन डी की शरीर में पूर्ति के लिए 40 मिनट तक धूप के संपर्क में रहना जरूरी है. 90% भारतीय विटामिन डी की कमी से लंबे अरसे से जूझ रहे

इसे भी पढ़ें- दुमका : आवेदन दिये एक साल से भी ज्यादा वक्त गुजरा, नहीं मिली गांव को बिजली, अब आंदोलन की तैयारी

सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे तक का समय सही

डॉ दीक्षित ने कहा कि शरीर में विटामिन डी की सही मात्रा मधुमेह, बाल झड़ने, त्वचा रोग आदि से बचाव में मददगार होती है. साथ ही विटामिन डी तंत्रिका संबंधी दवाओं से होने वाली विटामिन की कमी को भी नियंत्रित करता है. उन्होंने बताया कि महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा विटामिन डी की कमी का ज्यादा खतरा रहता है. उन्हें समय समय पर विटामिन डी के स्तर की जांच करानी चाहिए. नए शोध का हवाले से उन्होंने कहा कि सुबह सात से लेकर 11 बजे के बीच धूप के संपर्क में रहने से विटामिन डी नहीं मिलता. इसके लिए सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे तक का समय सही है. मधुमेह, बाल झड़ने, त्वचा रोगन्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: