Corona_UpdatesGiridihJharkhand

850 पैरामेडिकल कर्मी एक दिन की हड़ताल पर, कोरोना की जांच पर पड़ा असर

Giridih. महामारी कोरोना के जोखिम के बीच काम कर रहे जिले के करीब 850 पैरामेडिकल कर्मियों ने मंगलवार को एक दिन की सांकेतिक हड़ताल की. कोरोना काल में इन कर्मियों के हड़ताल का असर भी रहा. एक दिन की सांकेतिक हड़ताल का सीधा असर कोविड-19 के जांच और इलाज पर पड़ा.

कई विभाग के कर्मी शामिल
सांकेतिक हड़ताल पर जाने से गिरिडीह सदर अस्पताल में संचालित र्टूनट जांच लैब पर खासा असर रहा. संदिग्ध संक्रमितों के सैंपल नहीं लिए गए क्योंकि सांकेतिक हड़ताल पर ही लैब टेक्नीशियन, एएनएम, जीएनएम, फार्मास्टि, एक्स-रे टेक्नीशियन समेत कई शामिल विभाग के कर्मी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें- कैंसर से जूझ रही 100 साल की महिला ने दी कोरोना को मात, घर में हुआ इलाज

advt

हड़ताल पर रहे पैरामेडिकल कर्मी सदर अस्पताल पहुंचे, और अनुबंध कर्मियों को स्थायी करने की मांग करते हुए धरने पर बैठ गए. धरने पर बैठे कर्मियों का कहना था कि अगर मंगलवार को रांची में चल रही वार्ता असफल हुई तो बुधवार को अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरु की जाएगी. इधर सांकेतिक हड़ताल के कारण ही संक्रमितों के संपर्क में आएं लोगों की ना तो पहचान ही की गई और ना ही उनके सैंपल लिए गए.

2800 जांच पेंडिंग
करीब 2800 जांच रिपोर्ट पेंडिंग पड़ा हैं। कर्मियों के हड़ताल पर जाने से सबसे अधिक परेशानी कोविड-19 अस्पताल में भर्ती संक्रमितों के इलाज और उनके सैंपल लेने पर पड़ा. पूरे जिले में कोरोना संक्रमितों के साथ कांटेक्ट्र ट्रैसिंग का जिम्मा इन कर्मियों पर ही है। लिहाजा, पहले से खराब हालत पर चल रहे कांट्रेक्ट ट्रैसिंग का कार्य मंगलवार को पूरी तरह से ठप रहा. क्योंकि पहले से संक्रमितों के संपर्क में आएं लोगों के सैंपल लेने से कर्मियों ने इंकार कर दिया।

इधर सिविल सर्जन डा. अवद्येश सिन्हा ने भी कहा कि कोरोना काल में पैरा मेडिकल कर्मी हड़ताल पर हैं। लिहाजा, कोरोना के अलावे स्वास्थ्य विभाग के अन्य कामों में जबरदस्त प्रभाव पड़ना तय है। क्योंकि स्थायी कर्मियों की संख्या उतनी नहीं है कि जिले में कोविड-19 की ड्यूटी कराई जा सके। एक दिन के सांकेतिक हड़ताल के कारण ही मंगलवार को र्टूनट बंद करना पड़ा.

adv
advt
Advertisement

5 Comments

  1. I love looking through a post that can make people think. Also, many thanks for permitting me to comment!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button