JharkhandRanchi

लिवर का 80 पर्सेंट हिस्सा सिस्ट में हो गया था तब्दील, पारस एचईसी में की गई 105 साल की महिला की सफल सर्जरी

Ranchi: पारस एचईसी अस्पताल ने हज़ारीबाग निवासी 105 वर्षीया महिला, जिनके पेट में एक सिस्ट (कीड़े वाला ट्यूमर) जैसा पाया गया था. इस वजह से महिला को दर्द हो रहा था. महिला के परिजनों ने कई चिकित्सकों से संपर्क किया, किन्तु दर्द से निजाद नही मिला. और तो और बीमारी से संबंधित जाँच भी नहीं हो पायी. इस बीच सिस्ट इतना बड़ा होगया कि पेट से चीरते हुए बाहर निकल रहा हो. तब महिला के घरवालों ने बेहतर ईलाज के लिए पारस एचईसी के डॉक्टर मेजर रमेश दास से संपर्क किया. डॉक्टर ने सीटी स्कैन रिपोर्ट को देखा तो पता चला कि मरीज को लिवर हाइडेटिक सिस्ट हो रखा है. लिवर का 80% हिस्सा सिस्ट में बदल गया था. इसके बाद डॉ रमेश दास ने महिला मरीज़ के परिजनों से विचार विमर्श किया और ऑपरेशन करने की योजना बनाई. मरीज की उम्र अधिक आन के कारण उसे एनेस्थीसिया देने में भी दिक्कत थी. एनेस्थीसिया हेड डॉ संजय वर्मा एवं उनकी टीम ने निर्णय लिया और 105 वर्षीया महिला मरीज को एनेस्थीसिया देने का फैसला किया. डॉ रमेश और डॉ ओम प्रकाश ने महिला मरीज की सफल सर्जरी कर सिस्ट को बाहर निकाला. महिला अब खतरे से बाहर है. वहीं अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें: झारखंड के कुश्ती पहलवानों ने राष्ट्रीय ग्रेपलिंग चैंपियनशिप में जीते 4 पदक

Related Articles

Back to top button