न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

80 की उम्र में रिटायर हुई नर्स, एक हजार से ज्यादा महिलाओं की करा चुकी हैं डिलीवरी

16

News Wing

Shillong, 13 December: मेघालय के पूर्वी खासी पहाड़ी जिले के दूरस्थ गांवों में 62 सालों से एक हजार से ज्यादा बच्चों के जन्म में मदद देने वाली और आपात स्थितियों में लोगों की मदद करने वाली 80 वर्षीय नर्स केयिक मुखिम अंतत: अपनी इच्छा से सेवानिवृत्त हो गईं.

बढ़ती उम्र के साथ होने वाली समस्याओं के कारण केयिक मुखिम ने लिया स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति 

एक नर्स सह दाई केयिक मुखिम (80) पूर्वी खासी पहाड़ी जिले के एक दूरदराज के गांव की रहने वाली हैं और उन्होंने उम्र संबंधी समस्याओं के कारण स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली है. केयिक को उनके इलाके के लोग प्यार से कोंग केयिक के नाम से बुलाते हैं. उन्होंने इस वर्ष जून तक खारांग रूरल सेंटर (केआरसी) में अपनी सेवाएं दीं. केआरसी की प्रबंधन समिति ने शनिवार को उनके लिए विदाई समारोह का आयोजन किया था जहां उनके बच्चे और अन्य कर्मचारी भी मौजूद थे.

नए लोगों को मिलनी चाहिए ये जिम्मेदारी : केयिक मुखिम

कोंग केयिक ने पीटीआई-भाषा को बताया कि बढ़ती उम्र अब मेरा साथ नहीं दे रही है और मुझे यह जिम्मेदारी अब नए लोगों को देनी होगी जिनपर मुझे यकीन है कि वह गांव में गरीब और जरूरतमंद लोगों के कल्याण के लिए काम जारी रखेंगे. उन्होंने इन वर्षों में यहां पर सुरक्षित प्रसव के काम में महत्पूर्ण योगदान किया. उन्हें केआरसी की तरफ से कुछ नकदी, एक स्मृतिचिह्न और एक प्रशस्ति पत्र दिया गया. मानवीय कार्यकर्ता एनी मार्गरेट बार ने इस संस्थान की स्थापना की थी. कोंग कियेक उन चुनिंदा छात्रों में से थी जिन्हें बार ने वर्ष 1952 में इस संस्थान में शामिल किया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: