NationalNEWSTOP SLIDER

मोदी सरकार के 8 साल : इन फैसलों से घर-घर में लोकप्रिय हुए PM मोदी

New Delhi: केंद्र में मोदी सरकार के आज (26 मई) आठ साल पूरे हो गए हैं. मोदी सरकार 2.0 की तीसरी सालगिरह है. बीजेपी साल-2014 के मुकाबले 2019 में और बड़ी जीत के साथ सत्ता में लौटी. इस बड़ी जीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में शुरू की गईं. तमाम कल्याणकारी योजनाओं ने अहम भूमिका निभाईं. पीएम अपने 8 साल के कार्यकाल में ग्लोबल लीडर के रूप में उभरे. हालांकि साल 2014 में जब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तो उनके सामने कई चुनौतियां थीं. सरकार के इस आठ साल के सफर में कुछ योजनाएं बेहद लोकप्रिय रही हैं.

GST : वन नेशन, वन टैक्स

टैक्स सुधार की दिशा में नरेंद्र मोदी की सरकार ने गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) को लागू किया. आज देश में टैक्स कलेक्शन के कई रिकॉर्ड स्थापित हो चुके हैं.

Catalyst IAS
SIP abacus

जनधन योजना

Sanjeevani
MDLM

देश के हर परिवार को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को जनधन योजना की शुरुआत की थी. सरकार इस योजना को जमीनी स्तर पर लागू करने में पूरी तरह से सफल रही है. अभी तक जनधन योजना के तहत देश में 45 करोड़ से अधिक बैंक खाते खोले जा चुके हैं. पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के नाम पर ज्यादा जनधन खाते खुले हैं. कोरोना संकट के दौरान महिलाओं के इन्हीं बैंक खातों में सहायत राशि पहुंचाई गईं. इसके अलावा लोगों को हर तरह की सब्सिडी का लाभ इसी अकाउंट के जरिये मिल रहा है.

तीन तलाक की प्रथा खत्म

देश में मुस्लिमों में प्रचलित तीन तलाक की प्रथा को खत्म करने का साहसिक फैसला नरेंद्र मोदी की सरकार ने लिया. हालांकि, इसका काफी विरोध हुआ, लेकिन सरकार के अडिग रुख की वजह से संसद में कानून पारित करके इस सामाजिक बुराई को दूर किया.

उज्ज्वला योजना

केंद्र सरकार उज्ज्वला योजना  को अपनी सबसे बड़ी उपलब्धि मानती हैं. केंद्र सरकार उज्ज्वला योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों के लिए घरेलू रसोई गैस यानी LPG कनेक्शन मुफ्त में मुहैया कराती है. इस योजना की शुरुआत 1 मई 2016 को की गई थी. सरकार का दावा है कि 25 अप्रैल-2022 तक 9 करोड़ अधिक कनेक्शन बांटे गए. PMUY Yojana  के अंतर्गत केंद्र सरकार सभी BPL तथा APL राशन कार्ड धारक परिवार की महिलाओ को 1600 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है.

ONOR: वन नेशन वन राशन

मोदी सरकार के कार्यकाल में ही वन नेशन वन राशन कार्ड लागू हुआ. यानी अब आप जहां भी जायेंगे, राशन कार्ड आपके साथ जायेगा. जहां आप रहेंगे, वहीं आपको उस कार्ड पर राशन मिलेगी. प्रवासी भारतीयों के लिए यह फैसला बहुत फायदेमंद साबित हुआ है.

किसान सम्मान निधि योजना 

लोकसभा चुनाव-2019 से ठीक पहले पीएम मोदी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की थी. पीएम मोदी की इस योजना की तारीफ देश के हर गांवों में होती है. इस योजना के तहत सरकार किसानों के बैंक खातों में हर साल 6000 रुपये जमा करती है. यह राशि 2000 रुपये की तीन बराबर किस्तों में किसानों के खातों में डाली जाती है.

Air Strike: एयर स्ट्राइक करके पाकिस्तान को सिखाया सबक

बार-बार घुसपैठ करने और भारतीय जवानों पर हमला करने वाले पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर सबक सिखाया. मोदी सरकार ने पाकिस्तान पर एयरस्ट्राइक करके वहां चल रहे आतंकवादी ठिकानों को तबाह कर दिया. पाकिस्तान को अब भी उसका दर्द महसूस होता है.

आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना केंद्र सरकार का फ्लैगशिप कार्यक्रम है. इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे (BPL) आने वाले परिवारों को 5 लाख रुपये तक का नकदी रहित (कैशलेस) स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जा रहा है. सरकार की मानें तो देश में 10 करोड़ परिवारों के 50 करोड़ सदस्यों को इस योजना का लाभ मिलेगा. पीएम मोदी ने कहा कि 1300 गंभीर बीमारियों का इलाज सरकारी ही नहीं निजी अस्पताल में होगा.

OROP: वन रैंक वन पेंशन

सैन्यकर्मियों की लंबे अरसे से लंबित मांग को मोदी सरकार ने पूरा किया. वन रैंक वन पेंशन की सैनिकों की मांग को पूरा किया और उसके लिए बजट भी आवंटित किया.

जल जीवन मिशन

मोदी सरकार का लक्ष्य है कि 2024 तक घर-घर स्वच्छ पानी उपलब्ध कराना है. पहले इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक घर तक स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाने का लक्ष्य 2030 निर्धारित किया गया था. हर घर नल योजना को जल जीवन मिशन के नाम से भी जाना जाता है. इस योजना का लक्ष्य 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन की दर से पीने योग्य जल उपलब्ध करवाना है. केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2022-23 में देश भर में 3.8 करोड़ परिवारों तक स्वच्छ पानी पहुंचाने का उद्देश्य हर घर नल योजना के अंतर्गत निर्धारित किया है. पिछले 2 वर्षों में इस योजना के माध्यम से 5.5 करोड़ घरों तक नल का जल पहुंचाया गया है. इस योजना को 2019 में आरंभ किया गया था.

इसे भी पढ़ें: Big breaking: 84 लाख के इनामी नक्सली विजय यादव उर्फ संदीप यादव की मौत, दर्ज थे 500 से ज्यादा केस

 

Related Articles

Back to top button