NEWS

8 हजार शिक्षक बनेंगे मास्टर ट्रेनर, 35 हजार सरकारी स्कूल के शिक्षकों को दी जाएगी ऑनलाइन ट्रेनिंग

Ranchi. सरकारी स्कूलों में चल रहे ऑनलाइन क्लासेस को अधिक से अधिक स्टूडेंट्स तक पहुंचाने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जायेगा. इसकी तैयारी शुरू हो चुकी है. राज्य के सभी स्कूलों के शिक्षक प्रशिक्षित हो सकें, इसके लिए शिक्षकों को ही मास्टर ट्रेनर बनाया जायेगा. मास्टर ट्रेनर बनाने के लिए राज्य भर से आठ हजार शिक्षकों का चयन किया जायेगा. 

जिला स्तर पर चार-चार शिक्षकों का होगा चयन

मास्टर ट्रेनर बनाने के लिए उन्ही शिक्षकों का चयन किया जायेगा, जो टेक्नो फ्रेंडली होंगे. शिक्षकों के चयन की बात करें तो संकुल स्तर पर तीन-तीन और जिला स्तर पर चार-चार शिक्षकों का चयन किया जायेगा. राज्य के 2630 संकुल के लिए 7890 शिक्षकों का और जिला स्तर पर 96 शिक्षकों को चयनित किया जायेगा. विभाग के मुताबिक जिला स्तर पर अंग्रेजी, मैथ्स, साइंस और सोशल साइंस के एक-एक विषय विशेषज्ञ नोडल शिक्षक का चयन होगा.

advt

इसे भी पढ़ें- भारत में नवंबर तक आ सकती है कोरोना वायरस की वैक्सीन, रूसी कंपनी करेगी 10 करोड़ डोज की सप्लाई

चयनित शिक्षकों को टेक्नो फ्रेंडली होने के साथ उनके पास मोबाइल, टैब, लैपटॉप का उपयोग, वीडियो कांफ्रेंसिंग की जानकारी होनी चाहिए. जिला स्तर के ऐसे शिक्षक पहले संकुल स्तर के नोडल शिक्षकों को सबसे ट्रेंड करेंगे. उसके बाद संकुल स्तर के शिक्षक संकुल के अन्य शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षित करेंगे. इस प्रक्रिया के तहत राज्य में करीब आठ हजार मास्टर ट्रेनर तैयार होंगे. 

जिलों से मांगी गयी शिक्षकों की लिस्ट 

विभाग की ओर से सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला शिक्षा अधीक्षकों से जिला और संकुल बार शिक्षकों की सूची मांगी गयी है. जिलों को लिंक भी दिये गये हैं, जिसमें शिक्षकों की ऑनलाइन सूची अपलोड करनी है.

adv

इसे भी पढ़ें- कांटा टोली फ्लाई ओवर के लिये डीपीआर और कंस्लटेंसी टेंडर खुला, अब काम में आयेगी तेजी

आठ हजार शिक्षकों के मास्टर ट्रेनर बनने के बाद प्राथमिक से प्लस टू स्तर तक के 1.25 लाख शिक्षकों की ऑनलाइन ट्रेनिंग शुरू हो सकेगी. दीक्षा और निष्ठा कार्यक्रम के तहत सभी शिक्षकों को अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण लेना होगा. इसमें ट्रेनिंग मॉड्यूल तय किये गये हैं. एक विषय में ट्रेनिंग पूरी करने और उसका सर्टिफिकेट मिलने के बाद ही दूसरे विषय में प्रशिक्षण ले सकेंगे. जेसीइआरटी ने ट्रेनिंग के छोटे-छोटे मॉडल तैयार किये हैं. इस ट्रेनिंग मॉड्यूल को दीक्षा पोर्टल पर अपलोड किया जा रहा है.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button