न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो के 75 फीसदी क्षेत्र में रोपनी नहीं, सरकार से बीमा लाभ दिलाने का आग्रह

34

Gomia: बोकारो जिला 20 सूत्री कमेटी के उपाध्यक्ष लक्ष्मण कुमार नायक शुक्रवार को कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग झारखंड सरकार के सचिव पूजा सिंघल से रांची स्थित कार्यालय में मिले. मौके पर उन्‍होंने सचिव को झारखंड के मुख्यंमत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में कहा गया है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ फसल 2017 के अंतर्गत 20 जुलाई 2017 तक यदि किसी भूभाग में 75% से अधिक क्षेत्र में रोशनी नहीं हो पाती है तो वहां के विविध किसानों को बीमा राशि की 25% क्षतिपूर्ति भुगतान करने का प्रावधान है.

इसे भी पढ़ें – अब पाकुड़ की जनता कह रही कैसे डीसी के संरक्षण में हो रहा है अवैध खनन, सवालों पर डीसी चुप 

बारिश नहीं होने से धान की फसल प्रभावित

विदित हो कि बोकारो जिला में खरीफ फसल 2017 में किसी भी प्रखंड के किसी भी पंचायत में 75% से अधिक रोपनी नहीं हुई है. इससे  संबंधित प्रतिवेदन उपायुक्त बोकारो द्वारा भी पत्रांक 695,  दिनांक 27.07. 2017 को भेजा गया है. साथ ही सरकार के सचिव, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग झारखंड सरकार रांची के द्वारा भी स्वीकृत करते हुए अधिसूचित किया गया है. लेकिन, अभी तक किसी भी किसानों को उनके दावा का भुगतान नहीं हो पाया है. इस साल भी मौसम प्रतिकूल है और बारिश नहीं होने से पूरे जिले में धान की उपज गंभीर रूप से प्रभावित हुई है. 2016 और 2017 में भी बोकारो जिले के अंतर्गत कुछ पंचायतों को छोड़कर बाकी पंचायतों में किसानों को क्षतिपूर्ति मुआवजा नहीं मिल पाया है.

इसे भी पढ़ें- उर्दू भाषा के प्रति उदासीन शिक्षा विभाग, HC के आदेश के बाद भी नहीं निकला नियुक्ति का विज्ञापन 

सीएम के ओएसडी से भी मिलकर किया आग्रह

पत्र के माध्यम से आग्रह किया गया है कि व्यक्तिगत रूप से रूचि लेकर खरीफ फसल 2017 में किसानों का दावा बीमित राशि का 25% भुगतान कराने की कृपा की जाय. पत्र की प्रतिलिपि सचिव, कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग, झारखंड सरकार को भी दी गयी है. श्री नायक मुख्यमंत्री के ओएसडी राकेश कुमार चौधरी से भी मिलकर किसानों की बीमा की राशि का भुगतान कराने का आग्रह किया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: