न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

71 वर्षीय जीन-जैक्स का साहस, प्लाईवुड से बने बैरल में अटलांटिक पार करेंगे  

फ्रांस के 71 वर्षीय जीन-जैक्स सविन पर जूनून सवार है कि वह प्लाईवुड से बने एक बैरल के सहारे अटलांटिक महासागर पार करें. यह सफर आसान नहीं है

1,265

 NW Desk : फ्रांस के 71 वर्षीय जीन-जैक्स सविन पर जूनून सवार है कि वह प्लाईवुड से बने एक बैरल के सहारे अटलांटिक महासागर पार करें. यह सफर आसान नहीं है. सेना में रह चुके सविन इससे पहले चार बार अटलांटिक का सफर कर चुके हैं.  चारों बार उन्होंने पाल वाले जहाज से अटलांटिक महासागर पार किया था.  इस यात्रा के लिए सविन को 55,000 यूरो यानी लगभग 43.39 लाख की शुरूआती फंड मिल चुका है.  फंडिंग करने वालों में दो फ्रांसीसी बैरल निर्माता भी शामिल हैं. बता दें कि बुधवार को एल हिएरो (कैनरी द्वीप समूह) से यात्रा पर निकले सविन को सागर की लहरों और हवा की मदद से लगभग तीन माह में कैरेबियन पहुंचने की उम्मीद है. यात्रा के क्रम में उन्हें जीपीएस की मदद से ट्रैक किया जायेगा. बिना इंजन के कैप्शूलनुमा बैरल में बैठकर सविन 45 हजार किमी का सफर पूरा करेंगे.  इस बैरल में सविन के आराम का पूरा इंतजाम है.  प्लाईवुड का यह बैरल 10 फीट लंबा और 6.8 फीट चौड़ा है.

इसे सीधा रखने के लिए कंक्रीट के एक ठोस धरातल का इस्तेमाल किया गया है. जानकारी के अनुसार इसमें मौजूद सोने के बिस्तर पर सविन खुद को बांधकर सो पायेंगे. एक माह के इस सफर में सविन के खाने-पीने की तमाम चीजे बैरल में मौजूद है.  मनोरंजन के लिए बैरल के चारों तरफ शीशे की खिड़कियां हैं, सविन के लिए लाइव टीवी का काम करेंगी. साथ ही उपग्रह तकनीक की मदद से सविन को दिशा देखने में मदद मिलेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: