न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

70वां गणतंत्र दिवस: पुलिस और सीआरपीएफ के 855 जवान सम्मानित, झारखंड के तीन पुलिस अधिकारी को वीरता पदक

सीआरपीएफ के तीन जवानों को मरणोपरांत शीर्ष सम्मान - राष्ट्रपति के पुलिस पदक (पीपीएमजी) से पुरस्कृत

932

New Delhi: गणतंत्र दिवस से एक दिन पूर्व शुक्रवार को पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बलों के 855 कर्मियों को पुलिस पदकों से सम्मानित किया गया. इनमें से 149 कर्मियों को जम्मू-कश्मीर, नक्सल प्रभावित इलाकों एवं अन्य क्षेत्रों में बहादुरी का प्रदर्शन करने के लिए वीरता पदक दिए गए.

सीआरपीएफ को सबसे ज्यादा पुरस्कार

देश के सबसे बड़े अर्द्धसैनिक बल- सीआरपीएफ को बहादुरी के लिए सबसे ज्यादा 44 पुरस्कार मिले. उसके बाद ओडिशा पुलिस को 26 पदक, जम्मू-कश्मीर पुलिस को 25 एवं छत्तीसगढ़ पुलिस को 14 पदकों से सम्मानित किया गया.  केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के तीन जवानों को मरणोपरांत शीर्ष सम्मान- राष्ट्रपति के पुलिस पदक (पीपीएमजी) से पुरस्कृत किया गया.

झारखंड के तीन जवान को वीरता पदक

Related Posts

डॉ  कलबुर्गी मर्डर केस  :  एसआईटी के आरोपपत्र में दावा,  हिंदू चरमपंथी संगठन की पुस्तक क्षत्रिय धर्म साधना से प्रेरित थे  आरोपी

एसआईटी के एक बयान के अनुसार इस  मामले के अन्य आरोपियों में अमोल काले, प्रवीण प्रकाश चतुर, वासुदेव भगवान सूर्यवंशी, शरद कालस्कर और अमित रामचंद्र बड्डी भी शामिल हैं. 

SMILE

वीरता पदक के अन्य विजेताओं में मेघालय पुलिस के 13, उत्तर प्रदेश पुलिस के 10, सीमा सुरक्षा बल के आठ, दिल्ली पुलिस के चार, झारखंड पुलिस के तीन और असम राइफल्स एवं भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के एक-एक कर्मी शामिल थे.

गृह मंत्रालय के एक आदेश में बताया गया कि विभिन्न राज्यों की पुलिस, केंद्रीय पुलिस बलों एवं संगठनों के महिला एवं पुरुष कर्मियों को कुल 146 पुलिस वीरता पदकों, विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति के 74 पुलिस पदकों और सराहनीय सेवा के लिए 632 पुलिस पदकों से सम्मानित किया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: