Crime NewsDeogharJharkhand

प्राइवेट कंपनी के कर्मी से मारपीट कर 70 हजार रुपये व सोने की चेन की छिनतई

Deoghar: मंगलवार रात्रि करीब 10 बजे जसीडीह थाना क्षेत्र के हिल व्यू गली बीआईटी मोड़ के समीप 8-10 अज्ञात आरोपियों द्वारा एक प्राइवेट कंपनी के कर्मी से मारपीट कर 70 हजार रुपए नकद व सोने की चेन छिनतई कर ली गई. घटना में युवक गंभीर रुप से जख्मी हो गया. जबकि घटना की सूचना मिलने के बाद बीचबचाव करने पहुंचे उनके फुफेरे भाई को भी आरोपियों द्वारा मारपीट कर जख्मी कर दिया गया. वहीं आरोपियों ने उनकी मोटरसाइकिल भी क्षतिग्रस्त कर दी.

घटना के बाद आसपास मौजूद लोगों ने दोनों को ऑटो से इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा. जहां ऑन ड्यूटी डॉक्टर द्वारा दोनों का प्राथमिक उपचार करने के बाद भर्ती कर इलाज किया जा रहा है. घटना के संदर्भ में पीड़ित युवक जसीडीह थाना क्षेत्र के सिमरिया निवासी पियुष रंजन ने बैद्यनाथधाम ओपी पुलिस को दिए अपने बयान में कहा है कि वह देवघर में स्थित एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है.

मंगलवार रात्रि करीब 10 बजे वह अपने कार्यालय में काम करने के बाद अपनी मोटरसाइकिल  नंबर जेएच 15 एन 1146 से देवघर से वापस अपने घर जाने के लिए निकले थे. घर जाने के क्रम में जैसे ही वह जसीडीह थाना क्षेत्र के हिल व्यू गली बीआईटी मोड़ के समीप पहुंचे तो वहां पर पहले से 8-10 अज्ञात आरोपी घात लगाए मौजूद था. वहां पहुंचने पर आरोपियों ने उन्हें रोक लिया व उनकी मोटरसाइकिल छीनने का प्रयास करने लगे. उनके द्वारा विरोध करने पर आरोपियों ने उनके साथ मारपीट करना शुरु कर दिया.

Sanjeevani

मारपीट के दौरान आरोपियों ने उनके पास मौजूद कंपनी के 70 हजार रुपए जबरन छिनतई कर ली. जबकि आरोपियों ने उनके गले से सोने की चेन भी छिनतई कर ली. इस दौरान आरोपियों ने उनकी मोटरसाइकिल भी क्षतिग्रस्त कर दी. घटना में वह गंभीर रुप से जख्मी हो गए. जिसके बाद उन्होंने अपने फुफेरे भाई रंजीत कुमार दुबे को किसी तरह फोन कर मामले की जानकारी दी.

सूचना मिलने के बाद उनका फुफेरा भाई तुरंत मौके पर पहुंचा. लेकिन आरोपियों ने उसके साथ भी मारपीट कर उसका सर फाड़ दिया. उसके बाद दोनों भाइयों ने शोर मचाना शुरू किया. आवाज सुनकर आसपास मौजूद लोग दौड़कर वहां पहुंचे. लोगों को आता देखकर सभी आरोपी वहां से फरार हो गए.

उसके बाद लोगों द्वारा उनके घर में फोन कर मामले की सूचना दी गई व ऑटो से दोनों को गंभीर स्थिति में इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा गया. जहां ऑन ड्यूटी डॉक्टर द्वारा उनका प्राथमिक उपचार करने के बाद भर्ती कर इलाज किया जा रहा है.

घटना की सूचना मिलने के बाद उनके परिजन भी सदर अस्पताल पहुंचे. सदर अस्पताल प्रबंधन द्वारा मामले की सूचना बैद्यनाथधाम ओपी पुलिस को दी गई, जिसके बाद बैद्यनाथधाम ओपी प्रभारी मिथिलेश कुमार सिंह ने मौके पर पहुंचकर उनका फर्दबयान दर्ज किया. समाचार लिखे जाने तक बैद्यनाथधाम ओपी पुलिस द्वारा उनके फर्दबयान को जसीडीह थाना भेजने की तैयारी की जा रही थी. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.

Related Articles

Back to top button