न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

3 सालों में 70% शिक्षक होंंगे रिटायर, 90 शिक्षकों की ज्वाइनिंग डेट RU को पता नहीं

रांची विश्वविद्यालय के पास नहीं है 90 शिक्षकों के योगदान तिथि व जन्‍मदिन की जानकारी

eidbanner
92

Satya Prakash Prasad

Ranchi: रांची विश्वविद्यालय (RU) के 90 शिक्षकों का योगदान की तिथि एवं उनका जन्मदिन की जानकारी विश्वविद्यालय के पास नहीं है. आरयू के अधिकारियों को इन शिक्षकों के योगदान की तिथि संबंधित जानकारी नहीं. सबसे कमाल की बात है कि कई शिक्षक पिछले कुछ सालों में सेवानिवृत हो गये. जन्म की तिथि को लेकर आरयू में उलझकर रह गयी है. सूचना का अधिकार के तहत आरयू ने जो जानकारी दी है उस रिपोर्ट से यह स्पष्ट है कि आरयू में नौकरी करने के दौरान आप चाहे तो अपने जन्म की तिथि व योगदान की तिथि को छिपा सकते हैं और मनचाहे तरीके से सेवानिवृत्‍त हो सकते हैं. आरयू के पूर्व सीसीडीसी डॉ पीके सिंह लंबे समय तक आरयू में योगदान दिया और सेवानिवृत हो गये. लेकिन आरयू को उनका जन्मदिन और योगदान की तिथि आजतक नहीं पता लग सका. इसी तरह के कई दर्जनभर शिक्षक आरयू से सेवानिवृत्‍त हो हुए हैं. लेकिन, आरयू प्रशासन अबतक उनके योगदान की तिथि और जन्मदिन की तिथि नहीं जान पायी है.

तीन सालों में 70 फीसदी शिक्षक RUके होंगे रिटायर

अगामी तीन सालों के बाद आरयू के ज्यादात्तर शिक्षक सेवानिवृत हो जायेंगे. आरटीआई से मिली जानकारी के अुनसार विश्वविद्यालय और कॉलेजों में योगदान देने वाले शिक्षकों की संख्या ज्यादा है. इनका जन्मदिन 1951 से 1955 के बीच का है. लगभग 70 फीसदी शिक्षक 1955 के आस-पास के हैं,जो अगामी तीन सालों में सेवानिवृत हो जायेंगे.

जल्द ही शिक्षकों से डेटा लेगी आरयू: कुलसचिव

Related Posts

 अटल वेंडर मार्केट: निगम का आदेश, 15 दिनों के अंदर शिफ्ट नहीं करने पर आवंटन होगा रद्द

फुटपाथ दुकानदारों से कहा गया है कि वे मार्केट परिसर में बनी दुकानों में शिफ्ट करें, इसके लिए जरूरी है कि वे निगम के साथ यथाशीघ्र एकरारनामा करें

आरयू के कुलसचिव डॉ अमर कुमार चौधरी ने कहा 90 शिक्षकों का डेटा आरयू के पास नहीं होना गंभीर मामला है. जल्द ही कॉलेजों एवं विभागों से आरयू इन शिक्षकों का योगदान एवं जन्मदिन से जुड़ा डेटा लेगी.

इसे भी पढ़ेंःमोमेंटम झारखंड: 3.10 लाख करोड़ के 210 MOU, गुजर गये 635 दिन- एक भी प्रोजेक्ट जमीं पर नहीं

जानिये पारा शिक्षकों के लिए क्या है खुशखबरी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: