Crime NewsJharkhandRanchi

अपहरण के 7 महीने बाद भी नरेश कुम्हार का नहीं मिला सुराग, पुलिस पर मदद नहीं करने का आरोप

विज्ञापन

Ranchi: सिल्ली थाना क्षेत्र के लोटा के रहने वाले नरेश कुम्हार नाम के शख्स का सात महीने पहले अपहरण कर लिया गया था. साल 2019 के 16 नवंबर के बाद से नरेश का कोई पता नहीं है. 7 महीने बीत जाने के बावजूद भी नरेश कुम्हार का कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

इस मामले में नरेश के परिजनों को आशंका है कि नरेश का अपहरण करके उसकी हत्या कर दी गयी है. 7 महीने बीत जाने के बावजूद भी ना नरेश का कोई सुराग मिला है और ना ही इस घटना में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है. इस मामले में नरेश के परिजनों ने पुलिस के द्वारा मदद नहीं करने का आरोप लगाया है. इसको लेकर नरेश के परिजन मुख्यमंत्री और रांची रेंज के डीआइजी से भी मदद की गुहार लगा चुके हैं, लेकिन कोई भी कारवाई नहीं हुई है.

इसे भी पढ़ें- भारत के साथ जारी तनाव के बीच अब चीन ने भूटान के साथ खड़ा किया नया सीमा विवाद

advt

क्या है मामला

सिल्ली थाना क्षेत्र के लोटा के रहने वाला नरेश पलासडीह के रहने वाले राम कुमार महतो के घर में काम करता था. बीते वर्ष 16 नवंबर की सुबह नरेश काम पर निकला ता लेकिन रात तक वह घर वापस नहीं आया.

अगले दिन 17 नवंबर को नरेश के परिजनों ने उसकी काफी खोजबीन की तो पलासडीह- खरईगड़ा मार्ग पर नरेश के चप्पल और उसके पास ही खून की कुछ बूंद भी मिली थी. इस घटना के बाद से लगातार नरेश की खोज की जा रही है लेकिन अब तक उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

इसे भी पढ़ें- Sci&Tech : कैश और जेवरात को पराबैंगनी किरणों की बौछार कर कोरोना वायरस से बचाया जा रहा है

adv

आपकी दुश्मनी में हत्या की आशंका

नरेश के परिजनों ने उसकी हत्या आपसी दुश्मनी के चलते कर देने की आशंका जताई है. नरेश के परिजनों ने दावा किया है की इस घटना में उसके पड़ोसी राजीव कुम्हार और मृत्युंजय कुम्हार ने अपराधियों से मिलकर नरेश का पहले अपहरण किया और फिर उसकी हत्या कर दी है.

इसे भी पढ़ें- विकास दुबे के गुर्गे ने किया अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, पुलिस हैरान

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button