JharkhandRanchi

66 वां रेल वीक अवार्ड : ट्रैकमैन, सिग्नल एवं दूरसंचार कर्मचारियों की हो रही अनदेखी

Ranchi : रेलवे संरक्षण की बात अधिकारी करते हैं. महत्वपूर्ण सुरक्षा के तहत सभी मौसम में विपरीत परिस्थिति में 4 से 5 किलोमीटर चलकर ट्रैक पर लगातार 12 घंटे की ड्यूटी ट्रैकमैन करते हैं.
ट्रैक पर कोई दुर्घटना ना हो इसके लिए हमेशा जान जोखिम में डालकर काम पर डटे रहते हैं, लेकिन इस बार भी दक्षिण-पूर्व रेलवे जोन ने ट्रैकमैन कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार किया है.

इसे भी पढ़ें :  एआइडीएसओ : खुदीराम बोस की जयंती पर मानगो इकाई का सम्मेलन आयोजित

ये बातें दक्षिण-पूर्व रेलवे मेंस तृणमूल कांग्रेस के केंद्रीय संयुक्त महासचिव सह चक्रधरपुर रेल मंडल के संयोजक जहांगीर हक ने कही. उन्होंने कहा कि रेलवे की रीढ़ माने जाने वाले इंजीनियरिंग विभाग के ट्रैकमैन और फेलियर में रात भर ट्रैक पर काम करने वाले सिग्नल एवं दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों की अनदेखी की जा रही है.

इसे भी पढ़ें : BREAKING NEWS : जन्मदिन की पार्टी में जा रहे कोलकाता के दंपति की सड़क हादसे में मौत, बच्चा घायल

विभाग से जो लिस्ट बनाई जाती है उसमें काम के आधार पर नहीं बल्कि चेहरा देखकर लिस्ट तैयार किया जाता है. बताते चलें कि 07/12/21 के दिन दक्षिण-पूर्व रेलवे जोन के मुख्यालय गार्डन रीच स्थित सिरसा स्टेडियम में जोन की जीएम अर्चना जोशी अवार्ड कार्यक्रम सम्मानित करेगी. जिसमें दक्षिण पूर्व रेलवे जोन के चक्रधरपुर, रांची, खड़गपुर और आद्रा समेत चारों मंडल के पॉलिसी के तहत चुने गये 164 कर्मचारियों को बेस्ट अवार्ड दिया जायेगा.

Related Articles

Back to top button