JharkhandRanchi

#Jharkhand के 6,52,805 प्रवासी मजदूरों ने राज्य लौटने के लिए कराया पंजीयन

Ranchi: झारखंड के प्रवासी मजदूर अब अपना धैर्य खोने लगे हैं. कई स्थानों से मिल रही सूचना के अनुसार घर लौटने की बेचैनी में अब प्रवासी मजदूर पैदल ही कई राज्यों से निकलने लगे है.

इनमें तमिलनाडु, महाराष्ट्र, कर्नाटक, ओडिशा, छत्तीसगढ़ और गुजरात जैसे राज्यों में हिन्दी पट्टी के मजदूरों की संख्या अधिक है. इसकी सूचना केन्द्र एवं राज्य सरकारों को भी है.

इसके बाद भी प्रवासी मजदूरों के लिए उचित व्यवस्था कमजोर पड़ने लगी है. लॉकडाउन-1 के दौरान प्रवासी मजदूरों के बीच राहत समग्री उपलब्ध होने में अधिक परेशानी नहीं हुई.

लॉकडाउन-2 के दौरान भी स्थिति संतोषजनक रही. लेकिन लॉकडाउन-3 के दौरान अब प्रवासी मजदूर अपनी घर वापसी के लिए परेशान हो रहे हैं. काम मिलने के बाद भी वे अपने घर लौटना चाहते हैं.

इसे भी पढ़ें – #Dhullu : फरार रहते हुए भी विधायक ढुल्लू मामले को मैनेज करने की करते रहे कोशिश, नहीं मिली कामयाबी तो करना पड़ा सरेंडर

झारखंड के 10 लाख से अधिक प्रवासी मजदूर है दूसरे राज्यों में

झारखंड सरकार के आंकड़ों के अनुसार 10 लाख 5 हजार 846 प्रवासी मजदूर देश के विभिन्न राज्यों में होने की सूचना है जिसमें  6,52,805 प्रवासी मजदूरों ने राज्य लौटने के लिये पंजीकरण कराया है.

झारखंड सरकार की ओर से जारी किये गये पंजीयन प्रपत्र में हर दिन प्रवासी मजदूरो के द्वारा पंजीकरण कराया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – जानिये हिंदपीढ़ी की सुरक्षा में तैनात एएसआइ की कोरोना से लड़ कर जीतने की कहानी, उसी की जुबानी

किस दिन कितने पंजीयन 

2 मई 2020 – 58692

3 मई 20020-193896

4 मई 2020- 171010

5 मई 2020- 88723

6 मई 2020-39332

7 मई 2020 – 33685

8 मई 2020- 35338

9 और 10 मई 2020 – 32129

इसे भी पढ़ें – #Corona : धनबाद में भाजपा सांसद और नेताओं ने उड़ायी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: