JharkhandLead NewsRanchi

हिमाचल प्रदेश से अब तक चार जत्थों में 61 श्रमिकों की वापसी

Ranchi : हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले से झारखंड के श्रमिकों के लौटने का सिलसिला जारी है. अब तक चार जत्थों में कुल 61 श्रमिकों की वापसी हो चुकी है. सभी श्रमिक खूंटी, तोरपा, बंदगांव आदि क्षेत्र के  निवासी हैं. ये श्रमिक हिमाचल प्रदेश स्थित राठी हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड में काम करने गये थे. मालूम हो कि बीते दिनों हिमाचल प्रदेश में झारखंड के श्रमिकों के साथ मारपीट की घटना हुई थी. उस घटना के बाद श्रमिकों ने वापस लौटने की गुहार लगायी थी. मामले की जानकारी जब मुख्यमंत्री को मिली तो उन्होंने मजदूरों को सकुशल वापस लाने के निर्देश दिया था.

इसे भी पढ़ें – एक्सएलआरआई से हटाए गए 15 मजदूरों को फिर से काम पर रखने की मांग पर धरना

श्रमिकों का बकाया वेतन उनके बैंक खाते में भेजा जा रहा है

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद श्रम विभाग के अन्तर्गत राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष ने कंपनी से बात कर मजदूरों की वापसी सुनिश्चित करायी. राज्य सरकार के हस्तक्षेप के बाद हिमाचल प्रदेश स्थित कंपनी प्रबंधन ने भी मजदूरों को वापस भेजने पर सहमति जतायी. श्रमिकों को उनका बकाया वेतन भी उनके बैंक खाते में भेज दिया जा रहा है. वापस लौटने के बाद श्रमिक एतवा मुंडा ने बताया कि और भी समूह वापस आने की तैयारी कर रहे हैं. राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष की काउंसलर रजनी तापे ने बताया कि राठी हाईड्रो प्रोजेक्ट पावर प्राईवेट लिमिटेड के प्रमुख धर्मेंद्र राठी से लगातार संपर्क किया जा रहा है. श्रमिकों की वापसी में आ रही अड़चनों को दूर किया जा रहा है. अभी जितने मजदूर हिमाचल प्रदेश में रह गये हैं उन्हें भी समूहों में वापस भेजने की तैयारी की जा रही है और जितने भी श्रमिक वापस आ रहे हैं, कंपनी के प्रमुख उसकी सूचना खुद प्रवासी नियंत्रण कक्ष को लगातार भेज रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – लो परफॉरमेंस के नाम पर सिटी मिशन मैनेजरों के वेतन में भारी कटौती, कुछ को 2000 से भी कम मिली सैलरी

Advt

Related Articles

Back to top button