न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

18 महीने में एयरपोर्ट से लेकर नामकुम तक की 6.90 किमी सड़क नहीं बनी

केंद्रीय विवि और जगुआर तक जानेवाली सड़क पर शुरू नहीं हो सका काम राजधानी के आधा दर्जन से अधिक सड़कों की स्थिति ज्यों की त्यों

23

Ranchi: राज्य की राजधानी में आधा दर्जन से अधिक सड़कों की स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है. पथ निर्माण विभाग की 75 करोड़ की लागत से बननेवाली इन सड़कों में से रिंग रोड फेज-सात से जुड़ी दो योजनाओं का काम तीन सालों के बाद भी शुरू नहीं हो पाया. इसमें केंद्रीय विवि रांची और जगुआर आर्म्स फोर्स के मुख्यालय तक जानेवाली सड़क शामिल है. ये सड़कें रिंग-रोड (फेज-सात) से जुड़ी हुई हैं. इनका काम जय माता दी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड और केएनपी सिंह को मिला हुआ है. इस पथ का काम ही बंद पड़ा है. वहीं रांची के बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से नामकुम को जोड़नेवाली सड़क का काम सुस्त पड़ा हुआ है. सरकार का निर्देश था कि योजना को 18 माह में पूरा किया जाये. शांडिल्य कंस्ट्रक्शन को 2016-17 में 6.90 किलोमीटर तक की सड़क का काम दिया गया था. 28.30 करोड़ की योजना को दो चरणों में पूरा किया जाना था. पहले चरण में 20 करोड़ रुपये खर्च करने थे. अब तक सिर्फ 26 फीसदी ही काम हो पाया है. यह सड़क हेथु और तुंबागुटू गांव होते हुए नामकुम तक जायेगी. फोर-लेन सड़क के लिए अब तक कोई खास पहल सरकार ने भी नहीं की है.

नहीं बना पिस्का स्टेशन पर आरओबी

पथ निर्माण विभाग की तरफ से ही 4.8.2016 में पिस्का स्टेशन रांची के पास रेलवे ओवरब्रिज बनाने का फैसला लिया गया था. अरुणादित्य प्रोजेक्ट्स एंड मिनरल्स को यह काम दिया गया. इसमें रेलवे ओवर ब्रिज के अलावा आधा किलोमीटर तक की सड़क भी बनायी जानी थी. अब तक इसमें 6 फीसदी ही काम हो पाया है. विभाग की तरफ से कटहलमोड़ चौक जंक्शन का काम भी कराया जाना था. 7.83 करोड़ की योजना 2013 से ही ठप्‍प पड़ी हुई है. इसी प्रकार इटकी पावर हाउस से लेकर झिंझरी-टटकुंदो रोड की योजना केएनपी सिंह की कंपनी को 2017-18 में दी गयी थी. 11.04 करोड़ की योजना का 24 फीसदी काम ही हो पाया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: