न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सेंट्रल यूनिवर्सिटी के लिए कांके के चेरी-मनातू में 510 एकड़ जमीन का अधिग्रहण शुरू

849

जमीन अधिग्रहण को लेकर शिड्यूल-11 के तहत रैयतों को नोटिस जारी करने की प्रक्रिया शुरू

फिलहाल रांची के ब्रांबे में चल रहा है सेंट्रल यूनिवर्सिटी का अस्थायी कैंपस

Ranchi: केंद्रीय विश्वविद्यालय झारखंड के लिए राज्य सरकार ने कांके प्रखंड के चेरी, मनातू में 510 एकड़ जमीन आवंटित की है. केंद्रीय विवि के जमीन अधिग्रहण को लेकर जिला प्रशासन ने शिड्यूल-11 के तहत रैयतों को नोटिस दिये जाने और मुआवजे की राशि भुगतान करने को लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ेंःक्या #IL&FS, #DHFL के बाद अगला नंबर #इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड का है?

जिला बंदोबस्त कार्यालय की तरफ से इसकी औपचारिकताएं पूरी की जा रही है, ताकि केंद्रीय विवि के स्थायी कैंपस, हॉस्टल, कर्मियों और अधिकारियों के आवास और अन्य सुविधाओं का विकास किया जा सके.

केंद्रीय विवि का नया कैंपस ग्रीन कैंपस होगा, जो पारिस्थितिकी संतुलन के अनुरूप होगा. ग्रीन आर्किटेक्चर और डिजाइन के आधार पर बननेवाले भवन बिल्डिंग के लिए जमीन अधिग्रहण के बाद कार्रवाई की जायेगी.

एक मार्च 2009 को केंद्रीय विवि एक्ट के तहत केंद्रीय विवि झारखंड की स्थापना की गयी थी. तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल की अनुमति के बाद केंद्रीय विवि झारखंड की स्थापना की गयी थी, जिसके पहले कुलपति डॉ डीटी खटिंग थे.

फिलहाल ब्रांबे के अस्थायी कैंपस में चल रहा विवि

केंद्रीय विवि राजधानी के इटकी प्रखंड स्थित ब्रांबे में चल रहा है. इसमें स्नातकोत्तर स्तर के 26 प्रोग्राम और डॉक्टरेट स्तर के 20 से अधिक कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं.

पाठ्यक्रमों में नैनो टेक्नोलाजी, मास कम्यूनिकेशन, कंप्यूटर साइंस, जीओ इंजीनियरिंग, वाटर इंजीनियरिंग, ट्राइबल लॉ, गणित, भौतिकी, रूरल एंड ट्राइबल मैनेजमेंट, फोक लोर, ह्यूमन राइट्स, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, लाइफ साइंसेस, ट्रांसपोर्ट इंजीनियरिंग समेत अन्य कोर्स प्रमुख हैं.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक: उम्र का गोल्डेन टाइम इस नौकरी में लगा दिया, अब कर्ज में डूबे हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: