JharkhandRanchi

75 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद से 50,000 सखी मंडलों को बनाया जायेगा स्वावलंबी और सशक्त:  हेमंत सोरेन

Ranchi :  राज्य में काम कर रहे 50,000 सखी मंडलों को आर्थिक मदद देने की दिशा में हेमंत सरकार ने 75 करोड़ का आर्थिक अनुदान दिया है. अनुदान की राशि को सीएम हेमंत सोरेन ने सोमवार को चक्रीय निधि के रूप में ऑनलाइन ट्रांसफर किया है.

इनमें से हर सखी मंडल को करीब 15-15 हजार रुपये अनुदान के रूप में दिये जायेंगे. ऑनलाइन ट्रांसफर करने के बाद सीएम ने कहा कि 75 करोड़ की राशि से सखी मंडलों से जुड़े करीब 6 लाख ग्रामीण परिवारों को लाभ होगा.

इससे दीदियों को छोटी मोटी जरूरतों को पूरा करने के लिए सखी मंडल से पैसे मिल सकेंगे. उनके बीच लेन-देन को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही उन्हें अपनी आजीविका को सशक्त करने का भी मौका मिलेगा.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस मौके पर पाकुड़,  गुमला, रामगढ़,  दुमका  और चाईबासा से आयी सखी मंडलों की महिलाओं से उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी भी सीएम ने ली.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इस मौके पर ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का सहित कई अधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – 16 जून को नहीं खुलेंगी कपड़े और जूते की दुकानें, हेमंत ने कहा- पीएम से चर्चा के बाद होगा फैसला

महिलाओं को स्वावलंबी और सशक्त बनाना है मकसद

मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को स्वावलंबी, सशक्त और आजीविका से जोड़ना सरकार की विशेष प्राथमिकता है.

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत ग्रामीण परिवेश की महिलाओं को सखी मंडलों से जोड़ा जाना है. उन्हें आजीविका के विभिन्न माध्यमों,  स्वरोजगार व हुनरमंद व्यवसाय के अवसर उपलब्ध कराना है.

इससे जहां गरीबी उन्मूलन करने का फायदा मिलेगा, वहीं गरीब महिलाओं के कार्य क्षमता को बढ़ाया जा सकेगा.

मिल रहा कौशल विकास का प्रशिक्षण

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजीविका मिशन के तहत ग्रामीण महिलाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण तथा वित्तीय सहायता भी दी जा रही है. अबतक राज्य में कुल 2 लाख 45 सखी मंडलों से 30 लाख परिवारों को जोड़ा जा चुका है.

इनमें 1.16 लाख सखी मंडलों को चक्रीय निधि के रूप में 174 करोड़ रुपए तथा 43 हज़ार सखी मंडलों को सामुदायिक निवेश निधि मद से 215 करोड़ रुपए उपलब्ध कराई जा चुकी है. इसके अतिरिक्त 1.17 लाख सखी मंडलों को बैंक लिंकेज के जरिये 1,649 करोड़ रुपये उपलब्ध कराये जा चुके हैं.

 

जिलावार लाभार्थी सखी मंडलों की सूची

सोमवार को जिन 50,000 सखी मंडलों को 75 करोड़ रुपये अनुदान के तौर पर दिये गये उसमें धनबाद के सबसे अधिक 4,724 सखी मंडल शामिल है. दूसरे स्थान पर पूर्वी सिंहभूम के 4174, तीसरे स्थान पर रांची के 3998 सखी मंडल शामिल है.

अन्य जिलों में गिरीडीह के 3603, पलामू के 3437, बोकारो के 3043,  चतरा के 3298,  देवघर के 782,  दुमका के 2572, गढ़वा के 664,  गोड्डा के 1256,  गुमला के 1341,  हज़ारीबाग़ के 2683,  जामताड़ा के 821,  खूंटी के 392, कोडरमा के 1871,  लातेहार के 1041,  लोहरदगा के 657,  पाकुड़ के 645,  पश्चिमी सिंहभूम के 3219,  रामगढ़ के 2574,  साहेबगंज के 648,  सरायकेला खरसावां के 1802 और सिमडेगा के 755 सखी मंडल हैं.

इसे भी पढ़ें – हरमू नदी के सौंदर्यीकरण पर BJP की सरकार ने खर्च किये 84 करोड़, फिर भी नदी नाला ही रही

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button