BokaroJharkhand

बोकारो में 5000 लीटर का Milk Chilling Plant खुला, मिल्क प्रोडक्शन कंपनियों से किसानों को मिलेगी आर्थिक मदद

Bokaro : पेटरवार प्रखंड के कोह पंचायत में सोमवार को एक Milk Chilling Plant (दुग्ध प्रशीतक संयंत्र) का उद्घाटन किया गया. गोमिया विधायक लंबोदर महतो ने उद्घाटन करते हुए कहा कि 5000 लीटर के इस प्लांट के खुलने से स्थानीय किसानों, पशुपालकों को काफी लाभ होगा. झारखंड मिल्क फेडरेशन के सहयोग से स्थापित इस प्लांट का संचालन ग्रामीणों के दुग्ध सहकारी समितियों के माध्यम से किया जायेगा. कोह के जराडीह गांव में खुले इस प्लांट से दुग्ध उत्पादकों को भरपूर आर्थिक लाभ मिलेगा. मौके पर पेटरवार प्रखंड प्रमुख सीमा देवी, डीवीओ डॉ मनोज कुमार, बीवीओ डॉ धर्म रक्षित विद्यार्थी, कोह पंचायत की मुखिया फुलेश्वरी देवी सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे.

कोह पर गव्य विकास योजनाओं पर जोर

सीमा देवी के अनुसार कोह पंचायत में बड़ी संख्या में कृषक समाज के लोग रहते हैं. गव्य विकास विभाग औऱ कृषि विभाग से संबंधित कई योजनाओं का लाभ यहां के लोगों को मिलता रहा है. ऐसे में दूध उत्पादन भी यहां बड़े पैमाने पर होता है. पशुपालकों के पास कई बार जरूरत से अधिक दूध हो जाता है. ऐसे में अक्सर उसे बेचने में दिक्कत होती है. पर अब Milk Chilling Plant खुल जाने से किसानों को राहत मिलेगी. पैसे के मामले में भी वे समृद्ध होंगे.

एक साल से बन कर तैयार था भवन

जराडीह में एक साल पहले से ही Milk Chilling Plant का भवन बन कर तैयार था. पर इसका उपयोग नहीं हो पा रहा था. स्थानीय किसानों के साथ साथ पंचायत औऱ स्थानीय विधायक ने इसके लिए लगातार गव्य विकास विभाग से सहयोग मांगा था. अब Milk Chilling Plant के खुलने से किसानों में उल्लास है. प्रगतिशील किसान योगेंद्र महतो के मुताबिक अब दूध प्रोडक्शन पर किसान समाज अधिक से अधिक मेहनत करेगा. बोकारो में मिल्क प्रोडक्शन का ग्राफ ऊंचा होगा.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: