1st LeadCrime NewsJharkhandRanchi

PLFI के नाम पर मांगी 50 लाख की रंगदारी, नहीं देने पर फौजी कार्रवाई की धमकी

Ranchi: प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआई के नाम पर नामकुम के मार्बल कारोबारी गणेश कुमार से 50 लाख की रंगदारी की मांग की गई है. रंगदारी नहीं देने पर फौजी कार्रवाई करने की धमकी भी दी गई है.

बता दें कि मार्बल कारोबारी डेकोरेटिव टाइल्स के नाम से नामकुम में अपना प्रतिष्ठान चलाते हैं. मार्बल कारोबारी गणेश कुमार से 5 जून को लिफाफा भेज कर रंगदारी की मांग की गई थी. लिफाफे में पीएलएफआई के लेटर पैड पर एरिया कमांडर श्याम टाइगर के नाम से रंगदारी मांगी गई थी. मामले में पुलिस ने लिफाफा पहुंचाने वाले को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जिसके बाद मामला शांत था.

 

फिर से हुई मांग

Catalyst IAS
ram janam hospital

28 जून को PLFI के नाम पर रंगदारी मांगते हुए कहा कि मार्केट में हमारी बदनामी हुई है, लेकिन अब तक हमें पैसा नहीं मिला. इसका अंजाम तुम्हें भुगतना होगा.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

रंगदारी मांगे जाने के बाद मार्बल कारोबारी गणेश कुमार दहशत में हैं और उन्होंने अपनी जान को खतरा बताया है. कहा गया है कि 2 दिनों के अंदर अगर 20 लाख नहीं मिले तो मारे जाओगे.

घटना के बाद से मार्बल कारोबारी काफी डरे हुए हैं और असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. फोन करने वाले ने कारोबारी से पूछा की रंगदारी की राशि कब पहुंचेगी. कहा कि तुमने तो हमारे आदमी को भी गिरफ्तार करवा दिया. फोन पर धमकी मिलने के बाद व्यव्सायी ने नामकुम थाने में मामला दर्ज कराया है.

पुलिस नहीं कर रही सहयोग : मार्बल कारोबारी

इस मामले को लेकर मार्बल कारोबारी ने नामकुम थाने में एफआईआर दर्ज कराई है, हालांकि एफआईआर दर्ज होने बाद भी पुलिस ने अब तक रंगदारी मांगने वाले तक नहीं पहुंच पाई है, जिसके बाद मार्बल कारोबारी काफी डरे हुए हैं और नामकुम थाने की पुलिस पर आरोप लगाया है.

मार्बल कारोबारी का कहना है कि एफआईआर दर्ज कराने के बाद भी पुलिस अब तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर सकी है. मार्बल कारोबारी गणेश कुमार ने कहा कि बार-बार एक ही नंबर से रंगदारी मांगी जा रही है. इसके बाद भी पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर सकी है.

 

PLFI के नाम पर रंगदारी मांगे जाने के बाद मार्बल कारोबारी समेत परिवार वाले काफी दहशत में हैं. इस घटना के बाद से अपनी जान को खतरा बता रहे हैं. मार्बल कारोबारी गणेश कुमार ने कहा कि हमारे परिवार पर कभी भी हमला हो सकता है. इस इलाके में ना तो पेट्रोलिंग गाड़ी और ना ही बाइक दस्ता की टीम मॉनिटरिंग करती है.

इस मामले को लेकर ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. इस मामले में पुलिस को अहम जानकारियां मिली है, जिसके आधार पर पुलिस कार्यवाई कर रही है. ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने कहा कि पुलिस जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेगी.

 

इसे भी पढ़ें : झारखंड इंटक की कार्यकार‍िणी की बैठक में लगाया गया केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप

Related Articles

Back to top button