Crime NewsJharkhandLatehar

बालूमाथ थाना प्रभारी सहित 5 निलंबित, फरार उग्रवादी की सूचना देने वाले को मिलेगा एक लाख का इनाम

Palamu/Latehar: पलामू प्रमंडल के लातेहार जिले के बालूमाथ थाना से पीएलएफआई उग्रवादी कृष्णा यादव उर्फ सुल्तान के फरार होने के मामले में बड़ी कार्रवाई की गयी है. बालूमाथ थाना प्रभारी समेत पांच को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही फरार उग्रवादी की सूचना देने वाले को एक लाख का इनाम देने की घोषणा की गयी है. सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी.

बताते चलें कि मंलवार की अहले सुबह शौच के बहाने प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के सबजोनल कमांडर कृष्णा यादव उर्फ सुल्तान के बालूमाथ थाना से फरार हो गया था. उसके खिलाफ 29 आपराधिक मामले दर्ज हैं.

रांची पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था और तीन दिन के रिमांड पर उसे लातेहार ली थी. मंगलवार को उसकी रिमांड अवधि पूरी होने वाली थी और उसे जेल भेजा जाना था.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें:NewsWing Impact: डाटा सेंटर के नाम पर करोड़ों के भुगतान पर कार्रवाई का आदेश

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

थाना परिसर से बड़े उग्रवादी के फरार हो जाने के मामले की जांच के लिए बुधवार को पलामू डीआईजी राजकुमार लकड़ा और एसपी प्रशांत आनन्द व अभियान एसपी विपुल पांडे बालूमाथ पहुंचे. छानबीन के दौरान थाना प्रभारी समेत चार पुलिस कर्मियों और एक चौकीदार की इसमें लापरवाही सामने आयी. लापरवाही बरतने के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.

डीआईजी राजकुमार लाकड़ा ने पत्रकारों को बताया कि बालूमाथ थाना परिसर के हाजत में शौचालय होने के बावजूद उसे बाहर के शौचालय में ले जाना बड़ी चूक है. उन्होंने कहा कि फरार उग्रवादी का पोस्टर जारी किया जाएगा एवं सूचना देने वाले को एक लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा व नाम गुप्त रखा जाएगा.

वही लातेहार एसपी प्रशांत आनंद ने बताया कि सब जोनल कमांडर फरार होने के मामले की जांच के बाद बालूमाथ थाना पुलिस की बड़ी चूक सामने आई है. कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में बालूमाथ थाना प्रभारी राणा भानु प्रताप सिंह, केस के आइओ दीप नारायण सिंह, ओ.डी ऑफिसर ठाकुर प्रसाद सिंह, एएसआई रामदेव मंडल एवं चैकीदार सुरेश गंझु को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. एसपी ने चहारदीवारी के ऊपर लगे कंटीले तार कटे होने को जल्द ही दुरुस्त करने की बात कही.

इसे भी पढ़ें:निकिता तोमर हत्याकांड: तौसीफ और रेहान दोषी करार, अजरू बरी

Related Articles

Back to top button