न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोकसभा चुनाव में गोमिया में पहली बार बनेंगे 5 पिंक बूथ

283

Gomia : आगामी दिनों में होने वाले गिरीडीह लोकसभा संसदीय क्षेत्र के गोमिया में पहली बार 5 पिंक बूथ बनाया जायेगा. पिंक बूथ की खासियत यह है कि यहां वोटरों को छोड़कर चुनाव कार्य में लगाये जाने वाले तमाम कर्मी सिर्फ महिलाएं होंगी. पिंक मतदान केंद्र बनाये जाने को लेकर गोमिया प्रखंड प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ें – रेलकर्मियों के कल्याण कोष से शुरू हुई बस सेवा 2 वर्ष से बंद, बच्चों और कर्मियों में आक्रोश

केंद्र पर सिर्फ महिला कर्मियों की ही ड्यूटी

लोयोला स्कूल गोमिया में 3 व पिट्स मॉडर्न स्कूल गोमिया में 2 मतदान केंद्र को पिंक मतदान केंद्र बनाया गया है. पिंक मतदान केंद्र पर सिर्फ महिला कर्मियों की ही ड्यूटी रहेगी. यहां पुरुष संवर्ग के किसी भी कर्मी को चुनाव कार्य संपन्न कराने के लिए ड्यूटी नहीं लगायी जायेगी.

जो कि अब तक चुनाव के दौरान पीठासीन पदाधिकारी से लेकर मतदान दल के सभी सदस्य पुरुष होते थे, लेकिन पहली बार पिंक मतदान केंद्र से पहचान में आये महिला मतदान दलों के केंद्र पर एक भी पुरुष कर्मी की ड्यूटी नहीं लगेगी.

इसे भी पढ़ें : गर्मी में बिजली के लिये मचेगा हाहाकार, सेंट्रल और निजी कंपनियों के रहमोकरम पर झारखंड की बिजली

चुनावकर्मियों को दी गयी प्रशिक्षण

पीठासीन पदाधिकारी, पोलिंग वन, टू एवं थ्री सभी महिलाएं ही होंगी. इसके अलावा शहरी मतदान केंद्रों पर महिला कर्मियों को चुनाव में लगाने को लेकर तैयारी की जा रही है. जिसके लिए शुक्रवार को प्रखंड के बहुउद्देश्यीय भवन में गोमिया बीडीओ मोनी कुमारी की अध्यक्षता में अंचलाधिकारी ओम प्रकाश मंडल, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी अमिताभ झा के अलावे प्रशिक्षक रंजन कुमार पॉल ने शिक्षा विभाग, बैंक, पोस्ट ऑफिस व प्रखंड के महिला कर्मियों को चुनाव कार्य के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला का आयोजन किया गया.

उपस्थित महिला मतदान कर्मियों को वोटिंग मशीन ईवीएम को वीवीपैट मशीन के साथ जोड़कर मतदान कराने की प्रक्रिया को लेकर यहां प्रशिक्षक पॉल के द्वारा यहां महिला कर्मियों को मॉक पोल, वीवीपेट मशीन, ईवीएम मशीन समेत पीठासीन पदाधिकारी, मतदान अधिकारी के कार्य एवं उनके दायित्व को बारीकी से समझाया गया.

प्रशिक्षक पॉल ने इसके अलावा डिस्पैच सेंटर पर भी सीयू बीयू वीवीपेट मशीन पर टेस्ट नहीं करने एवं इसे धूप एवं ताप से बचाने की भी हिदायत दी गयी. वहीं वीवीपेट मशीन को अनलॉक करने एवं स्विच ऑन करने की तकनीकी जानकारी से भी कर्मियों को अवगत कराया गया. मतदान के बाद वोट एवं पेपर स्लिप की गिनती बराबर हो एवं सभी पेपर स्लिप की पीठ पर मॉक पोल स्लिप की मोहर लगाने का निर्देश दिया गया.

इसे भी पढ़ें : दो दिन पहले झारखंड और बंगाल के लिए बनाये गये विशेष पर्यवेक्षक केके शर्मा को चुनाव आयोग ने भेजा…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: