न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

48 घंटे बाद NDRF की टीम ने बंद पोखर से निकाला युवक का शव

21 तारीख को दोस्तों के साथ नहाने गया था अलमाज

721

Dhanbad: धनबाद वासेपुर के रहने वाले अलमाज उर्फ अरमान का शव हादसे के दो दिन बाद निकाला जा सका है. एनडीआरएफ की टीम ने काफी मशक्कत के बाद शव को निकाला.

ज्ञात हो कि मोहम्मद जावेद का बड़ा बेटा अरमान उर्फ अलमाज अपने 6 दोस्तों के साथ कुसुंडा के गोन्दूडीह स्थित ओपन कास्ट की बंद पोखरिया में 21 तारीख को नहाने गया था. और नहाने के दौरान अलमाज डूब गया.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड की सबसे हॉट सीट बनी रांची, पीएम मोदी के रोड शो से नैया पार लगाने की कोशिश

घटना के सम्बंध में स्थानिए लोगों ने बताया कि पोखरिया में सभी युवक नहाने के लिए गये थे. इसी दौरान तीन युवक पोखरिया में डूबने लगे, जिसके बाद पास ही नहा रहे कुछ लोगों ने उन्हें बचाने की कोशिश की.

इस दौरान दो युवक गुलाम अरसद ओर शहबाज को लोगों ने बचा लिया. लेकिन अलमाज को नहीं बचा सके. जिसके बाद लोगों ने घटना की जानकारी पास के थाने को दी. सूचना मिलते ही गोन्दुडीह ओपी प्रभारी बीके दीक्षित दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और अलमाज की तलाश शुरू कर दी. स्थानीय गोताखोर की मदद भी ली गई थी.

इसे भी पढ़ेंःसरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को गैर-प्रमुख संपत्ति की लिस्ट बनाने को कहा- बेचने की है तैयारी

वहीं बीसीसीएल के अधिकारियों को भी घटना की जानकारी दी गई. जिसके बाद बीसीसीएल के अधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंचे और रेस्क्यू टीम को बुलाकर अलमाज की खोजबीन शुरू की.

कई घंटों की मशक्कत के बाद भी सफलता नहीं मिली. जिसके बाद जिला प्रशासन से रांची एनडीआरएफ की टीम बुलाने का आग्रह किया गया.

13 सदस्यीय एनडीआरएफ की टीम ने निकाला शव

एनडीआरएफ की 13 सदस्यीय टीम इंस्पेक्टर संतोष के नेतृत्व में रांची से धनबाद पहुंची. सोमवार रात ही एनडीआरएफ की टीम ने घटना स्थल का मुआयना किया.

सुबह 6 बजे एनडीआरएफ की टीम पोखरिया में उतर गई और करीब 4 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद टीम ने अलमाज के शव को पोखरिया से बाहर निकाल लिया.

जिसके बाद गोन्दुडीह पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. एनडीआरएफ की टीम द्वारा शव को बाहर निकालने के बाद ग्रामीणों ने जवानों को खूब सराहा. भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाये.

इसे भी पढ़ेंःजनता के बोल- ‘जीतेगा तो मोदी ही, तेजस्वी की रैली में तो बस जहाज देखने आए हैं’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: