JharkhandLead NewsRanchi

1885 करोड़ रुपये खर्च कर राज्य के 4496 स्कूल बनेंगे आदर्श, पांच साल में पूरी होगी योजना

Rahul Guru

Ranchi : स्कूली शिक्षा और सक्षरता विभाग राज्य के 4496 स्कूलों को उत्कृष्ट और आदर्श स्कूल बनायेगा. इसके लिए प्रोजेक्ट तैयार किया जा चुका है. यह पांच वर्षीय योजना है. जिसपर काम किया जाना है. इस प्रोजेक्ट की शुरुआत सत्र 2020-21 से होगी. वहीं प्रोजेक्ट को पूरा करने का टारगेट 2024-25 रखा गया है. झारखंड शिक्षा परियोजना इस प्रोजेक्ट को पूरा करेगी.

80 स्कूल उत्कृष्ट और 4416 स्कूल बनेंगे आदर्श

इस प्रोजेक्ट को आदर्श विद्यालय योजना का नाम दिया गया है. इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत 80 स्कूल को उत्कृष्ट और 4416 स्कूलों को आदर्श स्कूल बनाये जायेंगे. वहीं अन्य स्कूलों को प्रेरक स्कूल के रूप में विकसित किया जायेगा. इसके तहत पहले साल 360 करोड़, दूसरे साल 578 करोड़, तीसरे साल 528 करोड़, चौथे साल 238 करोड़ और पांचवें साल 180 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे.

पूरी योजना दो चरणों में पूरा की जायेगी. तय रूपरेखा के मुताबिक 80 उत्कृष्ट विद्यालयों के लिए 488.80 करोड़, 4415 आदर्श स्कूलों के लिए 1047.20 करोड़, स्कूलों के सुदृढ़ीकरण के लिए 48 करोड़ रुपये और ट्रेनिंग, आईटी आदि पर 302.60 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इस तरह से कुल 1885.80 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

पांच प्रमंडल से 90 स्कूलों का आदर्श स्कूल के लिए हुआ है चयन

इस योजना की शुरुआत करने के लिए पांच प्रमंडल से कुल 90 स्कूलों का चयन किया जा चुका है. इन चयनीत स्कूलों का उद्घाटन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य सरकार के एक साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में किया है. इस योजना के लिए दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल से 12, उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल से 35, संथालपरगना से 17, पलामू प्रमंडल से 11 और कोल्हान प्रमंडल से 15 स्कूलों का चयन किया गया है.

वहीं जिन 80 स्कूलों को उत्कृष्ट बनाने की बात हो रही है. उनमें से 27 स्कूलों का उद्घाटन हो चुका है. उत्कृष्ट विद्यालय बनने वाले जिन स्कूलों का उद्घाटन हो चुका है उसमें 17 जिला व प्लस टू स्कूल, तीन बालिका विद्यालय, पांच कस्तूरबा गांधी स्कूल और दो अंग्रेजी माध्यम से संचालित होने वाले मॉडल स्कूल हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: