Lead NewsNationalNEWSWorld

म्यांमार में सैन्य शासन का विरोध करने वाले 38 लोगों की एक दिन में मौत

करीब छह हफ्ते से प्रदर्शन का दौर जारी, अब तक सौ नागरिकों की मौत

Yangon : म्यांमार में तख्तापलट के बाद सैन्य शासन का विरोध जारी है. राजधानी रांची समेत अन्य शहरों में प्रदर्शन का दौर जारी है. सैन्य शासन प्रदर्शन को दबाने के लिये गोली-बारी से भी बाज नहीं आ रहे हैं. रविवार को हेलिंगथया में 22 लोगों समेत पूरे देश में कम से कम 38 नागरिकों की मौत प्रदर्शन के दौरान हो गई. बताया जा रहा है कि इस हिंसा में एक पुलिस अधिकारी की भी मौत हुई जबिक तीन सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं. मालूम हो कि फरवरी में निर्वाचित सरकार के तख्तापलट के बाद से ही वहां हिंसा का दौर जारी है.

 

म्यांमार के सरकारी टीवी ने हेलिंगथया में सैन्य तानाशाही की तरफ से मार्शल लॉ लागू करने की जानकारी दी है. इससे पहले शनिवार को भी सुरक्षाबलों ने गोलियां चलाकर 13 प्रदर्शनकारियों को मार दिया था. देश में सेना द्वारा सत्ता कब्जाने के बाद छह हफ्ते से जारी प्रदर्शनों में अब तक 100 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं, जबकि पॉलीटिकल प्रिजनर्स एडवोकेसी ग्रुप के मुताबिक, 2100 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है. सोमवार को म्यांमार की सबसे लोकप्रिय नेता सू की को फिर से अदालत में पेश किया जाएगा.

 

स्थानीय मीडिया ने हेलिंगथया के पूरे इलाके में जगह-जगह आगजनी के बाद धुएं के काले बादल फैल जाने की जानकारी दी. प्रदर्शनों के कई वीडियो प्रत्यक्षदर्शियों ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर साझा किए, जिनमें जगह-जगह आग लगती दिख रही है. ताजा हिंसा देश में बनाई गई समानांतर नागरिक सरकार के प्रमुख नेता मान विन खाइंग तान के प्रदर्शनकारियों से अपनी सुरक्षा करने की अपील के एक दिन बाद हुई है. उनके बयान के बाद प्रदर्शन और तेज हो गए हैं. सैकड़ों लोग घर में बनी शील्ड लेकर और हैलमेट पहन कर इनमें शामिल हुए. वहीं सैन्य शासन ने रात का कर्फ्यू लगाया है, जिसे तोड़ा जा रहा है.

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button