न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

36वींं ऑल डीवीसी क्रिकेट प्रतियोगिता : डीवीसी मीजिया ने पंचेत को और मैथन ने कोडरमा को हराया

68

Bermo : बोकारो थर्मल स्थित बोकारो क्लब मैदान में आयोजित 36वींं ऑल डीवीसी क्रिकेट प्रतियोगिता के दूसरे दिन बुधवार को दो मैच खेले गये. मंगलवार को प्रतियोगिता का पहला मैच पीच के गीला होने के कारण खेला नहीं जा सका था.

खेले गये दो मैच

बुधवार को 20-20 ओवर का प्रथम मैच मीजिया और पंचेत के बीच खेला गया. पंचेत की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 66 रन बनाये. जवाब में मीजिया की टीम ने 8 ओवर में ही 67 रन बनाकर मैच को जीत लिया. मैन ऑफ द मैच के खिताब से संजय भंडारी को नवाजा गया. संजय भंडारी ने 4 ओवर में 9 रन देकर चार विकेट झटके. संजय भंडारी को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार बोकारो थर्मल के उप निदेशक रवींद्र कुमार ने दिया.

hosp3

दूसरे मैच में मैथन ने कोडरमा को हराया

प्रतियोगिता का दूसरा मैच कोडरमा और मैथन के बीच खेला गया. कोडरमा की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 43 रन का स्कोर ही खड़ा कर पाया. जवाब में मैथन की टीम ने 6 ओवर में ही 44 रन बनाकर आसानी से मैच पर विजय प्राप्त कर ली. मैन ऑफ द मैच का खिताब मैथन के स्नेहाशीष दास को दिया गया. स्नेहाशीष दास ने 4 ओवर में 12 रन देकर चार विकेट प्राप्त किये. स्नेहाशीष को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार डीवीसी बोकारो थर्मल के डीजीएम पीके सिंह के द्वारा प्रदान किया गया. मैच में बतौर अम्पायर की भूमिका राजेश कुमार दूबे एवं भैरव राय ने निभायी. मौके पर विनय कुमार, डीवीसी के एपीआरओ रमेश कुमार, सुब्रतो पाल, इलियास हुसैन विकास विश्वास, रामनारायण, भरत सिंह इत्यादि लोग उपस्थित थे.

डीवीसी सिविल के सप्लाई मजदूरों ने पीच को खेलने लायक बनाया

वैकल्पिक पीच का निर्माण करते डीवीसी सिविल के सप्लाई मजदूर.

36 वीं ऑल डीवीसी क्रिकेट प्रतियोगिता के खेलों के लिए पीच एवं मैदान के निर्माण का कार्य सिविल विभाग के द्वारा ठेकेदार को दिया गया था. पीच को खेलने लायक बनाने का निर्माण ठेकेदार को करना था और खेल आरंभ होने के बाद उसके मरम्मत का काम डीवीसी सिविल के सप्लाई मजूदरों को करना था.

पीच निर्माण में ठेकेदार ने बरती लापरवाही

मंगलवार को निर्माण कार्य में बरती गयी लापरवाही के कारण पीच गिला ही रह गया और प्रतियोगिता का उद्घाटन के बाद भी मैच आरंभ नहीं किया जा सका. बाद में सिविल विभाग के इंजीनियरों के निर्देश पर डीवीसी सिविल के सप्लाई मजदूरों को पीच खेलने लायक बनाने का काम सौंपा गया. सिविल के सप्लाई मजदूरों ने पूरे पीच में विभिन्न स्थानों पर सब्बल से गड्ढा करके रोलर चलाकर पानी को सुखाने का काम किया और पीच को खेलने लायक बनाया. सप्लाई मजदूरों का कहना था कि विगत चार वर्षों से पीच के निर्माण का कार्य उनके द्वारा करवाया जाता था परंतु इस बार कार्य ठेकेदार से करवाया गया. काम सही नहीं होने के बाद आखिर में उन्हें ही लगाया गया.

ठेकेदार से क्यों करवाया गया काम

सवाल यह उठता है कि जो काम सप्लाई मजदूरों के द्वारा करवाया जा सकता था, उसे ठेकेदार से क्यों करवाया गया. बुधवार को तड़के सप्लाई मजदूरों के द्वारा मैदान का घास छीलकर एवं ईंट से रगड़कर एक वैकल्पिक पीच का निर्माण किया गया था, ताकि स्थायी पीच खेलने लायक नहीं रहे, तो वैकल्पिक पीच पर खेल करवाया जा सके. इस संबंध में डीवीसी के एपीआरओ रमेश कुमार का कहना था कि मैदान में मैच आरंभ होने के एक दिन पहले सीआइएसएफ फायर वाहन के द्वारा पानी गिराया गया था और उक्त पानी पीच में चले जाने से पीच गिला हो गया. जिसके बाद उसे ठीक करने के लिए सिविल के सप्लाई मजदूरों को लगाया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: