Dhanbad

गुरु गोविंद सिंह की 354वीं जयंती मनायी, शब्द कीर्तन का किया गया आयोजन

Dhanbad: सिखों के गुरु गुरु गोविंद सिंह की 354वीं जयंती के अवसर पर बैंक मोड़ के बड़ा गुरुद्वारा में प्रकाश पर्व का आयोजन किया और जयंती मनाई गयी. इसमें सिख समुदाय के द्वारा पूरे हर्षोल्लास के साथ सब्द कीर्तन तथा अन्य आयोजन किया गये.

मालूम हो कि पौष मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गुरु गोबिंद सिंह जी का जन्म पटना साहिब में हुआ था. धर्म की रक्षा के लिए अपने पूरे परिवार का बलिदान कर देने वाले गुरु गोबिंद सिंह जी ने खालसा पंथ की स्थापना की थी. सिख समुदाय के लोग इसे गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व के रुप में मनाते हैं.

मौके पर सिख समुदाय के लोग एक दूसरे को बधाई एवं शुभकामनाएं देते दिखे. जिले में गुरुद्वारों को आकर्षक रोशनी वाले बिजली के टिमटिमाते व जगमगाते बल्बों से सजाया गया है. अरदास, भजन, कीर्तन के साथ लोगों ने माथा टेका.

गुरु गोबिंद सिंह जी के लिए यह शब्द इस्तेमाल किए जाते हैं, सवा लाख से एक लड़ांऊ. उनके अनुसार शक्ति और वीरता के संदर्भ में उनका एक सिख सवा लाख लोगों के बराबर है. कोरोना काल के कारण इस साल लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का निर्देश के एहतियातों को ध्यान में रखकर आयोजन किया जा रहा है और नगर कीर्तन निकालने का कार्यक्रम नही किया गया.

इसे भी पढ़ें- शहीद स्मारक पर लगाया भाजपा का झंडा, हुआ विरोध

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: