न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शिवराज शासन में किसान कर्ज के नाम पर 3 हजार करोड़ का घोटाला ! सीएम कमलनाथ ने दिए जांच के आदेश

बगैर कर्ज लिए लेनदारों की लिस्ट में कई किसानों के नाम

1,550

Bhopal: मध्य प्रदेश में किसानों को कर्ज देने के नाम पर तीन हजार करोड़ का घोटाला होने की बात सामने आ रही है. ये घोटाला शिवराज सिंह की सरकार के कार्यकाल में होने के आरोप लगे हैं. सीएम कमलनाथ ने कहा कि किसानों के नाम पर राज्य में 3,000 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया गया. बुधवार को सीएम ने कहा कि किसानों की कर्ज माफी के लिए बनाई गई ‘जय किसान ऋण माफी योजना’ के तहत बनाई जा रही सूची के दौरान ये अनियमितता सामने आयी है.

बगैर कर्ज लिए कर्जदार बन गए किसान

कमलनाथ ने बताया कि 15 जनवरी से शुरु हुई इस योजना पर कार्य करने के दौरान पता चला कि कई किसानों ने कर्ज लिया ही नहीं और उनके नाम कर्जवाले किसानों की लिस्ट में शामिल हैं. इतना ही नहीं कई नाम ऐसे हैं, जिन किसानों को मरे हुए 10 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है.

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनके पास इस तरह की शिकायते आ रही हैं. और कई किसानों ने भी शिकायत की है. सीएम कमलनाथ ने बताया कि, ‘आज भी दो- तीन किसान मुझसे आकर मिले थे. उनमें से किसी भी किसान ने कर्ज नहीं लिया था लेकिन उनके नाम कर्ज लेने वाले किसानों की लिस्ट में थे. इतना ही नहीं, कई ऐसे किसानों के नाम लिस्ट में थे जिनकी कर्ज माफी कर दी गई. जबकि उनके नाम पर कोई कर्ज ही नहीं था.

जांच के आदेश

सीएम ने कहा कि ये पूरा मामला दो से तीन हजार करोड़ के घोटाले का हो सकता है. पूरे मामले की गंभीरता से जांच कराई जाएगी और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. सीएम ने इससे संबंधित जांच के आदेश भी दिए हैं, और अधिकारियों को मामले पर एफआईआर दर्ज कराने को कहा है.

इस दौरान जय किसान ऋण माफी योजना की जानकारी देते हुए मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ ने बताया कि इसके तहत 55 लाख छोटे और मध्यम किसान लाभांवित होंगे. 5 फरवरी तक कर्ज माफी के फॉर्म भरे जाएंगे और 22 फरवरी से किसानों को इस योजना का लाभ मिलने लगेगा.

इसे भी पढ़ेंः निरसा विधायक अरुप चटर्जी को घर में घुस कर दी बम से उड़ाने की धमकी, देखें वीडियो

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: