Crime NewsJharkhandPalamu

कार के साथ अगवा कर 5 लाख रुपये फिरौती मांगनेवाले 3 अपराधी गिरफ्तार, एक है फरार

Palamu : पुलिस ने एक अपहरणकांड का उद्भेदन करते हुए तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र निवासी चंदन कुमार चंद्रवंशी की कार को लूटने की नियत से अपराधी बुक कर जंगल में ले गये थे. इसके बाद परिजनों से 5 लाख फिरौती की मांग की थी. इस मामले में शहर थाना पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए तकनीकी सेल की सहायता से तीन अपराधियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है. वहीं चंदन कुमार चन्द्रवंशी को अपराधियों के चंगुल से छुड़ा लिया है.

Advt

इसे भी पढ़ें:आजसू पार्टी ने की क्षेत्रीय भाषाओं की लिस्ट से भोजपुरी, मगही, अंगिका को हटाने की मांग

ये है मामला

शनिवार को शहर थाना प्रभारी अरुण कुमार महथा ने बताया कि दो जनवरी शहर थाना में अपहरण का मामला दर्ज कराया गया था. 30 दिसम्बर 2021 को निमियां से नावाबाजार जाने के लिए अपराधियों ने 1800 रुपये में गाड़ी बुक की थी.

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS : चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पांचों राज्यों में चुनावी रैली और रोड शो पर लागू रहेगी पाबंदी

दोस्त के साथ मिलकर रची साजिश

अपराधी नीरज पाल, चंदन के घर के पास बिस्फुट्टा के पास बमराही में किराए के मकान में काफी दिनों से रह रहा था. चंदन की सास निमिया में रहती है तथा ओझा गुणी करने की बात बतायी गयी है. चंदन के ससुराल का घर और गाड़ी देखकर नीरज पाल को लगा कि पैसा वाला आदमी है और डरपोक है. इसके दामाद का अपहरण करने से 4-5 लाख रुपये आसानी से मिल सकते हैं.

इस काम के लिए उसने अपने गांव के दोस्त फरीद अंसारी से सम्पर्क किया और दोनों ने मिलकर अपहरण का प्लान बनाया. फरीद अंसारी ने अपने दो अन्य दोस्त नुरैन उर्फ मुन्ना अंसारी तथा फिरोज अंसारी को इस घटना में शामिल किया.

इसे भी पढ़ें:टेरर फंडिंग मामला : महेश अग्रवाल की जमानत याचिका पर 3 फरवरी को सुनवाई करेगा NIA कोर्ट

गाड़ी बुक कर किया अपहरण

योजनानुसार 30.12.2021 को फरीद और मुन्ना ने चंदन की कार रतनाग (नावाबाजार) जाने के नाम पर (1800 रूपए) में बुक की. इसके बाद चंदन के साथ गाड़ी लेकर दोनों वहां से चले. बिस्फुट्टा से नीरज पाल और फिरोज मोटर साइकिल से उनका पीछा करते गये. बाद में वे दोनों आगे बढ़कर नावाबाजार में रूक कर इनलोगों का इंतजार करने लगे.

कार सवार लोग पंडवा मोड़ में खाते पीते और समय बिताते हुए शाम में नावाबाजार पहुंचे. रतनाग रोड में कार घुसने पर पुनः मोटर साइकिल सवार दोनों अपराधी पीछे-पीछे गये. चारों अपराधी कार चालक चंदन को हिसरा जंगल में ले गये. इसके बाद चंदन के फोन से उसकी सास को फोन कर पांच लाख (500000) रुपये की फिरौती मांगी.
चंदन के ससुरालवालों ने पैसे देने से इंकार कर दिया.

इस पर अपराधियों ने चंदन का मोबाइल छीन लिया फोन पे का पासवर्ड लेकर करीब 33891 रूपए अपने हैदराबाद के एक साथी के फोन पे में भेजवाया. पुनः कुछ देर बाद फरीद ने अपने एकाउन्ट में मंगवा लिया.

इसे भी पढ़ें:नियुक्ति परीक्षाओं में वर्ष 2021 को किया गया कट ऑफ डेट, रघुवर दास ने जतायी आपत्ति

नीरज पाल ने बनायी थी योजना

अनुसंधान के दौरान तकनीकी सेल की सहायता और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अपराधी पकड़े गए. यह भी स्पष्ट हुआ कि इस घटना का षड़यंत्र एवं योजना नीरज पाल ने बनायी थी. गिरफ्तार अपराधियों में नीरज पाल, फरीद आलम और फिरोज अंसारी शामिल हैं. नीरज विश्रामपुर के घासीदाग, फरीद पांडु के कजरू एवं फिरोज इसी थाना क्षेत्र के कुशाहा का रहने वाला है. एक अपराधी नुरैन उर्फ मुन्ना फरार हैं.

इसे भी पढ़ें:पीएमजीएसवाइ : लक्ष्य से काफी कम हो रहा है सड़कों का निरीक्षण

Advt

Related Articles

Back to top button