JharkhandRamgarh

रामगढ़ चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज का 29वां वार्षिक आम सभा संपन्न

Ramgarh: रामगढ़ बिजुलिया स्थित चेंबर भवन के सभागार में रामगढ़ चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की 29 वीं वार्षिक आम सभा संपन्न हुई. यह आमसभा दो सत्रों में हुई. पहले सत्र की अध्यक्षता एवं संचालन चेंबर अध्यक्ष पंकज प्रसाद तिवारी ने की उन्होंने अपने अध्यक्षीय कार्यकाल में मिले सहयोग के लिए जिले के व्यापार एवं उद्योग जगत को धन्यवाद दिया. तत्पश्चात मानव सचिव भूपेंद्र सिंह ने वर्ष 2021-22 की रिपोर्ट पेश किया जिसे उपस्थित चेंबर के सदस्यों ने ध्वनि मत से अनुमोदित कर दिया गया इस आमसभा में सर्वसम्मति से घोष एंड पांडे कंपनी को पुनः 1 वर्ष के लिए चेंबर का ऑडिटर नियुक्त किया गया प्रथम सत्र के अंत में चेंबर उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता अमरेश गणक ने धन्यवाद ज्ञापन किया.

इसे भी पढ़ें: Indian Railways, Irctc : रेल यात्री ध्‍यान दें- इस्पात एक्सप्रेस समेत इन ट्रेनों में लगेगा अतिरिक्त कोच

दूसरे सत्र की शुरुआत मुख्य अतिथि रामगढ़ विधायिका ममता देवी विशिष्ट अतिथि एफजेसीसीआई के अध्यक्ष धीरज तनेजा एवं मंचासीन पदाधिकारियों ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की इस सत्र की अध्यक्षता चेंबर अध्यक्ष पंकज प्रसाद तिवारी एवं संचालन विवेक कुमार अग्रवाल ने किया इसके बाद पूर्व चेंबर अध्यक्ष प्रदीप सिंह ने जिले की समस्याओं से संबंधित मांग पत्र मुख्य अतिथि को पढ़कर सुनाया इसके बाद चेंबर सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष विनय कुमार अग्रवाल एवं पूर्व अध्यक्ष बालकिशन जलाल ने अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया मुख्य अतिथि रामगढ़ विधायिका ममता देवी ने अपने संबोधन में कहा कि व्यवसायियों के सहयोग के बिना विकास की परिकल्पना नहीं की जा सकती जिले के विकास मैं व्यवसायियों की भूमिका अहम होती है उन्होंने चेंबर को हर संभव मदद करने का आश्वासन भी दिया वहीं विशिष्ट अतिथि ने कार्यक्रम में दिए गए मांग पत्र को विस्तार पूर्वक पढ़ते हुए आश्वासन दिया कि व्यापारी वर्ग के हित में प्रस्तुत की गई परेशानियों को उच्च अधिकारियों से मिलकर एवं उनसे बात कर जल्द सुलझा ली जाएगी

रामगढ़ की विधायक ममता देवी ने अपने विधायक मद से नए चेंबर सभागार का शिलान्यास भी किया. साथ ही उपस्थित मुख्य अतिथि विशिष्ट अतिथि एवं चेंबर के पूर्व अध्यक्षों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित भी किया गया.

इसे भी पढ़ें: मांडर उपचुनावः शिल्पी के माथे मांडर का ताज, गंगोत्री को मिली निराशा

Related Articles

Back to top button