JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

झारखंड प्रशासनिक सेवा के 29 अफसर बनेंगे IAS

केंद्र को भेजा गया रिक्तियों का ब्योरा

Nikhil Kumar

Ranchi : झारखंड प्रशासनिक सेवा के वरीय अधिकारियों को भारतीय प्रशासनिक सेवा में प्रमोशन फिर से मिलने का रास्ता साफ हो रहा है. इस बार 29 झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को आइएएस में प्रोन्नति दी जायेगी. झारखंड सरकार ने आइएएस में प्रोन्नति के लिए रिक्तियों की सूची तैयार कर केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय को भेजी है. दो साल की रिक्तियां बनाकर केंद्र को भेजी गयी थी.

इसे भी पढ़ें :कोविशील्ड लगवाने वालों के लिए बड़ी खबर, जानिए दो डोज के बीच 12-16 सप्ताह का अंतराल कितना सही है ?

advt

कार्मिक विभाग के अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2019 में 17 रिक्त पदों के विरुद्ध आइएएस में प्रमोशन दिया जाना है. वहीं वर्ष 2020 में 12 आइएएस अधिकारियों के रिक्त पदों के विरुद्ध प्रमोशन दिया जाना है. ऐसे में 29 अधिकारियों के आइएएस में प्रोन्नति देने के लिए केंद्र को रिक्तियां भेजी गयी है.

केंद्र से सहमति मिलने के बाद झारखंड से राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के नाम चयनित कर यूपीएससी को भेजे जायेंगे. बता दें कि हाल में ही 2017-18 की रिक्तियों के विरुद्ध 10 अधिकारियों की प्रोन्नति आइएएस के लिए दी गयी है.

इसे भी पढ़ें :गढ़वा में प्रेम मिलन के दौरान गिरी दीवार, प्रेमी की मौत, प्रेमिका गंभीर

87 अधिकारियों के नाम भेजे जायेंगे

आइएएस के रिक्त 29 पदों के विरुद्ध 87 राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के नाम केंद्र को भेजे जायेंगे. नियमानुसार एक पद पर तीन अधिकारियों के नाम प्रोन्नति के लिए भेजे जाते हैं. ऐसे में 87 अधिकारियों की लिस्ट तैयार की जा रही है. कार्मिक विभाग ने इसके लिए सभी विभागों को पत्र भी लिखा है और अपने अधिन काम करने वाले झाप्रसे सेवा के योग्य अधिकारियों की प्रमोशन के लिए सूची बनाकर देने को कहा है.

इसे भी पढ़ें : पीएम मोदी की अध्यक्षता में 24 जून को होगी कश्मीरी दलों के साथ बैठक, जानिए देश की सुरक्षा के लिए क्यों अहम है यह मीटिंग ?

प्रमोशन हुआ तो आइएएस की कमी होगी दूर

झारखंड में भारतीय प्रशासनिक सेवा के कैडर में 217 पद सृजित हैं. इनमें अभी 154 पद पर आइएएस कार्यरत हैं. इसमें 12 अधिकारी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं. ऐसे में 63 पद अभी भी खाली है. ऐसे में अगर 29 अधिकारियों को आइएएस में प्रमोशन मिलता है तो राज्य में 183 आइएएस हो जायेंगे. इससे अधिकारियों की कमी दूर होगी. कई विभाग जो अतिरिक्त प्रभार में चल रहे हैं, उनमें नियमित अधिकारियों की पोस्टिंग हो सकेगी.

इसे भी पढ़ें :पूरी राजधानी को सीसीटीवी के जद में लाने की कवायद ,मर्ज होंगे स्मार्ट सिटी और सीसीआर के कैमरे

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: