न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दवा व्यापारी 28 सितंबर को बंद रखेंगे अपनी दुकानें

211

Ranchi : झारखंड फार्मेसी काउंसिल की कथित गलत नीतियों के विरोध में 28 सिंतबर को राज्यभर के केमिस्ट शॉप संचालक अपनी दुकानों को बंद रखेंगे. रांची डिस्ट्रिक्ट केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कृष्णा प्रधान ने बताया कि अनुभवी फार्मासिस्ट का निबंधन/नवीकरण नहीं होने से दवा व्यापारियों में नाराजगी है. इसी वजह से सभी केमिस्ट ने मिलकर दुकान बंद रखने का निर्णय लिया है. उन्होंने बताया कि निबंधन नहीं होने के कारण दवा-दुकानों के लाइसेंस का नवीकरण भी नहीं हो पा रहा है. इससे कई दुकानें बंद होने के कगार पर आ गयी हैं. दवा विक्रेताओं के परिवारों की स्थिति भी बिगड़ती जा रही है.

इसे भी पढ़ेंःकास्टिज्म की बात करने पर फंसे पलामू SP, गृह विभाग ने किया शोकॉज, मांगा स्पष्टीकरण

बिहार फार्मेसी काउंसिल से निबंधित हैं सभी दुकानदार

एसोसिएशन के सचिव अमर कुमार सिन्हा ने बताया कि लगभग 30 वर्ष पहले बिहार फार्मेसी काउंसिल के एक आदेश के तहत अनुभवी फार्मासिस्ट का निबंधन किया गया था, जिससे सभी फार्मासिस्ट अपना व्यापार कर रहे थे. लेकिन, मार्च 2018 में झारखंड फार्मेसी काउंसिल के गठन के बाद एक और आदेश जारी किया गया. इस आदेश के अनुसार सिर्फ वैसे ही व्यक्ति केमिस्ट का व्यापार कर सकते हैं, जिनकी शैक्षणिक योग्यता फार्मेसी से संबंधित हो. इसके अलावा बिहार फार्मेसी काउंसिल द्वारा फार्मासिस्टों के अनुभव के आधार पर फार्मासिस्ट में निबंधन को खारिज करने का आदेश जारी कर दिया गया है. इन्हीं नीतियों के विरोध में एआईओसीडी मुंबई से प्राप्त आदेश के तहत राज्य सहित पूरे भारत में दवा दुकानों की एक दिवसीय हड़ताल बुलायी गयी है. शुक्रवार को सभी दवा विक्रेता, थोक एवं खुदरा व्यापारी अपनी दुकानें बंद रखेंगे. इसके अलावा दवा के ऑनलाइन व्यापार का भी विरोध किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः‘इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियन सर्विसेस लिमिटेड’ की तेजी से बिगड़ती वित्तीय…

इसे भी पढ़ेंःRSSऔर सरकार के कार्यक्रम ‘लोकमंथन’ पर खर्च होंगे चार करोड़, व्यवस्था में लगाये गये पांच IAS

इसे भी पढ़ेंःमुख्यमंत्री सीधी बात कार्यक्रम में पाकुड़ डीसी पर आरोप, करा रहे हैं अवैध उत्खनन, विस्थापितों को…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: