न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिना भू-अर्जन के बना दी गयी 24.1 किमी सड़क, मुआवजे के 3.66 करोड़ रुपये दो साल से हैं विभाग के पास 

परमवीर अल्बर्ट एक्का के जारी प्रखंड का मामला: नावाडीह से गोविंदपुर छत्तीसगढ़ सीमा तक बनी 12 मीटर चौड़ी सड़क

191

Gumla: रघुवर सरकार में विकास के नाम पर हर दिन नयी नजीर सामने आ रही है. यहां बिना जमीन अधिग्रहण किये सड़क का निर्माण कर दिया गया. वह भी सड़क पहली बरसात में ही टूटने लगी. गुमला जिला स्थित नावाडीह से गोविंदपुर (छत्तीसगढ़ सीमा) तक 24.1 किलोमीटर सड़क का निर्माण 64 करोड़ की लागत से की गयी है. जमीन अधिग्रहण किये बिना 12 मीटर चौड़ी सड़क रैयतों की जमीन पर बना दी गयी. जबकि, पथ निर्माण विभाग द्वारा बनायी गयी सड़क की लागत जमीन अधिग्रहण के एवज में 3 करोड़ 66 लाख 12 हजार 2 रूपये 39 पैसे का आवंटन प्राप्त हो चुका है. लेकिन, रैयतों को फुटी कौड़ी नहीं मिली है. जबकि, सड़क का निर्माण कार्य सितंबर 2016 में शुरू हुआ और 2017 के दिसंबर में पूरा कर दिया गया.

इसे भी पढ़ें: सीधी बात में पलामू के उठे दो मामले, सीएम ने कहा-शासन व्यवस्था को बनायें धारदार

किस कंपनी ने किया सड़क निर्माण

शिवालय कंस्ट्रक्शन कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, रोहतक, हरियाणा की कंपनी को 24.1 किलोमीटर सड़क कस निर्माण किया था. सड़क निर्माण के लिए खनन पट्टा भी वन क्षेत्र में दिये गये थे. पत्थर खनिज खनन के लिए 29.9.2016 से 20.9.2021 तक जमीन लीज में दिये गये हैं. डुमरी थाना के जारी प्रखंड स्थित हथलदा मौजा में थाना नंबर 59 का गैरमजरूआ प्लॉट संख्या 472, 474, 485 और कुछ रैयती जमीन 5.67 एकड़ खनन लीज दी गयी है. जिसके लिए कंपनी ने 303, 225 जमा किये.

इसे भी पढ़ें: बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को ‘सुप्रीम’ झटका, उम्रकैद की सजा बरकरार

सड़क निर्माण को लेकर क्या कहते हैं रैयत

नावाडीह से गोविंदपुर छत्तीसगढ़ सीमा तक बनी 12 मीटर चौड़ी सड़क के लिए रैयतों का 20 एकड़ से भी अधिक जमीन चली गयी है. लेकिन, सरकार की ओर से न तो जमीन अधिग्रहण की कोई नोटिस दी गयी और न ही मुआवजा देने की बात अब तक समाने आयी है. जो एक-दो रैयत शुरूआत में विरोध भी किये, उन्‍हें भी डरा धमकाकर चुप करा दिया गया. सड़क निर्माण को लेकर  स्थानीय ग्रामीण जेपी मिंज कहते हैं कि हमारे गांव होते हुए जिस सड़क का निर्माण कराया गया है, वह 2018 के पहली बारिश में बह गयी. नयी सड़क पर गड्ढे नजर आने लगे. संवेदक द्वारा काफी लीपा-पोती के बाद भी आज बदहाल है. परमवीर अल्बर्ट एक्का जारी प्रखंड में बनी नावाडीह से गोविंदपुर सड़क के बारे में जिला परिषद सदस्य सरोज हेंब्रम कहती हैं कि सड़क में घटिया निर्माण समग्री इस्तेमाल किये गये हैं, जो देखने से ही पता चल जाता है. परमवीर अल्बर्ट एक्का के जारी प्रखंड में बनी सड़क सिर्फ कमीशनखोरी के लिए बनाया गया है. इस सड़क का निर्माण कार्य 2017 में पूरा हो गया है, लेकिन अभी भी सड़क टूटे हैं. सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे सरकार के विकास योजना की हकीकत बयां करती है.

इसे भी पढ़ें: सानिया बनीं मां, बेटे के जन्म पर बधाई देनेवालों का लगा तांता

क्या कहती हैं भू अर्जन पदाधिकारी गुमला

भू अर्जन पदाधिकारी अंजना दास का कहना है कि जिला में कई सड़कों का भूअर्जन प्रक्रिया शुरू किया  जा रहा है. नावाडीह से गोविंदपुर तक बनी सड़क का भू-अर्जन नहीं हो पाया है और न ही विभाग को रैयतों के लिए मुआवजा राशि मिली है. भू-अर्जन कर रैयतों को मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है. पथ निर्माण विभाग गुमला के एक्सक्यूटिव इंजीनियर विनोद कश्‍यप का कहना है कि जिला के परमवीर अल्बर्ट एक्का जारी प्रखंड में बनी नावाडीह से गोविंदपुर तक सड़क निर्माण किया गया है. इस पुरानी सड़क की चौड़ीकरण की गयी थी. अभी रैयतों को मुआवजा नहीं मिला है. मुआवजा की राशि पथ निर्माण विभाग के पास है. जल्द ही रैयतों को मुआवजा मिल जायेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: