Corona_UpdatesJharkhandKoderma

कोडरमा में कोरोना के 230 नए मामले, उपायुक्त ने दिया सख्ती का निर्देश

Koderma: जिले में सोमवार को 230 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले हैं. जिले में 24 घंटे के अंदर ट्रूनेट जांच में कुल 125 और रेपिड एंटीजेन में 102 जबकि आरटी पीसीआर से जांच में 3 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं.

यह स्थिति तब है जब संग्रह किये गए नमूनों में से 4647 नमूने अभी जांचरत ही हैं. जिला सर्विलांस पदाधिकारी डॉ मनोज कुमार ने बताया कि जिले में अब सक्रिय मरीजों की संख्या 1422 पहुंच गई है.

advt

इनमें लगभग 1137 लोग होम आइसोलेशन में हैं. कोविड-19 की दूसरी लहर में कोडरमा जिले में आधिकारिक आंकड़ों में अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : 1 May से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोग ले सकेंगे वैक्सीन, COVID-19 टीकाकरण का तीसरा चरण होगा शुरू

सरकार के निर्देशों का सख्ती से अनुपालन कराएं : उपायुक्त

Koderma: वैश्विक महामारी कोरोना के निमित्त राज्य सरकार ने दिशा निर्देश के द्वारा सभी प्रकार से सभा, जुलूस, धरना आदि इनडोर एवं आउटडोर विभिन्न कार्यक्रमों पर रोक लगाया गया है.

जिसे लेकर उपायुक्त रमेश घोलप ने आदेश जारी करते हुए कहा कि पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पदाधिकारी, सभी इंसीडेंट कमांडर को राज्य सरकार के निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगे.

इसका अनुपालन नहीं करने वालों के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 एवं भारतीय दंड संहिता की सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई करना सुनिश्चित करें.

सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, कार्यपालक पदाधिकारी सह इंसिडेंट कमांडर व थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र में माइक या लाउडस्पीकर के माध्यम से मास्क का उपयोग, सामाजिक दूरी का अनुपालन एवं हैंड वास का नियमित प्रयोग हेतु दुकानदारों और आमजनों पर जागरूक करेंगे.

फल-सब्जी विक्रेता, दुकानदार, पेट्रोल पंप के कर्मी आदि के संक्रमित होने से अन्य व्यक्तियों को संक्रमण होने की प्रबल संभावना रहती है. अतः उन लोगों का नियमित अंतराल पर कोविड-19 जांच कराने का निर्देश आवश्यक रूप से दिया गया. सभी इंसीडेंट कमांडर, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर इस कार्य को निश्चित रूप से कराएंगे.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS :  इलाहाबाद हाई कोर्ट  ने UP की राजधानी लखनऊ सहित 5 बड़े शहरों में लगाया FULL LOCKDOWN

हॉस्पिटल बेड मैनेजमेंट टास्क फोर्स का गठन

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से संबंधित कोई व्यक्ति कोविड जांच कराने आता है और उस व्यक्ति में कोविड संक्रमण से संबंधित लक्ष्ण दिखायी देता है तो वैसे व्यक्तियों का कोविड जांच रिपोर्ट आने का इंतजार न करें, उनका समुचित ईलाज शुरु दिया जाय.

उपायुक्त ने बिरसा सांस्कृति भवन में बैठक के दौरान ये बात कही. उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के फैलाव को नियंत्रित करने के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं.

जिले के सरकारी एवं निजी अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के इलाज हेतु बेहतर स्वास्थ्य सुविधा एवं ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स की व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से हॉस्पिटल बेड मैनेजमेंट टास्क फोर्स का गठन किया गया है.

जिसके नोडल सह वरीय पदाधिकारी के रूप में अनुमंडल पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया गया है तथा इनके सहायता के रूप में अमीत कुमार झा प्रशिक्षु उप समाहर्ता को प्रतिनियुक्त किया गया है.

मरीजों को बेड, ऑक्सीजन बेड एवं अन्य स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने हेतु गीता देवी मेमोरियल अस्पताल, आर्यन हॉस्पीटल, शुभ लाभ क्लिनिक, होप हॉस्पीटल, तिलैया क्लीनिक, कोडरमा नर्सिंग होम, न्यू कामेश्वरी क्लीनिक, पीजी हॉस्पीटल, पार्वती क्लीनिक प्रा.लि., राज शिशु क्लीनिक, सिद्धी विनायक हॉस्पीटल, चंद्रा क्लीनिक और जय प्रकाश हॉस्पीटल के लिए राजस्व उप निरीक्षक अंचल कोडरमा को टैग किया गया है.

मौके पर उप विकास आयुक्त आर ऱॉनिटा, अनुमंडल पदाधिकारी मनीष कुमार, सिविल सर्जन डॉ एबी प्रसाद, जिला सर्विलांस पदाधिकारी डॉ मनोज, प्लू कॉनर नोडल पदाधिकारी डॉ शरद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी शिवनंदन बड़ाईक व अन्य मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें :पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी कोरोना वायरस की चपेट में, AIIM’s के ट्रामा सेंटर में चल रहा इलाज

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: