BusinessJharkhandRanchi

22 जिलों में 23 थोक शराब विक्रेता करेंगे सप्लाई, लोहरदगा आउट, जामताड़ा में पेच फंसा

Ranchi: झारखंड राज्य शराब के थोक व्यापार के लिए 33 लोगों को उत्पाद विभाग की तरफ से शॉर्ट लिस्ट किया गया था. इन सभी आवेदकों ने थोक शराब विक्रेता नियमावली के मुताबिक 25 लाख रुपए ननरिफनडेबल आवेदन शुल्क जमा किए थे. यानी सरकार को सिर्फ आवेदन शुल्क से 8.25 करोड़ का मुनाफा हुआ. लेकिन 33 आवेदकों में से सिर्फ 23 कारोबारी विभिन्न जिलों के लिए काम लेने में सफल हो पाए. बाकी 10 लोग इस प्रक्रिया से बाहर हो गए.

मतलब 2.5 करोड़ रुपए वैसे आवेदकों से सरकार को मिले जिसे काम मिला ही नहीं. उत्पाद विभाग के नए नियम के मुताबिक विभाग विभाग की तरफ से जिन्हें शराब थोक व्यापार का काम नहीं मिलेगा, उनके सारे पैसे वापस होंगे सिवाय आवेदन शुल्क के.

दरअसल जो भी कारोबारी शराब के थोक कारोबार में हिस्सा लेना चाहता है, उसे सरकारी खजाने में 25 लाख रुपये जमा करने होते हैं, जो कि ननरिफनडेबल है.

चार जुलाई को इस व्यापार में हिस्सा लेने की आखिरी तारीख थी. सभी ने आवेदन शुल्क के साथ जमानत राशि की 50 लाख रुपये और पांच का लाइसेंस फीस जमा करना था.

इसे भी पढ़ें :Ranchi: अपर बाजार में बीकेबी माल और द्वारिकाधीश समेत 12 दुकानें टूटेंगी

लोहरदगा जिला आउट तो जामताड़ा का पेट फंसा

शराब थोक व्यापार की फाइनल लिस्ट तैयार हो चुकी है. इस लिस् में झारखंड के 22 जिले शामिल हैं. जहां थोक विक्रेता शराब की सप्लाई करेंगे. वहीं लोहरदगा जिले का आवेदन रद कर दिया गया है. वहीं जामताड़ा जिले के लिए जिसने आवेदन दिया, वो भी एक मामले में आहर्ता पूरी नहीं कर रहा है.

जामताड़ा वाले आवेदन को झारखंड के महाधिवक्ता राजीव रंजन के पास लिगल ओपिनियन लेने के लिए भेजा गया है. वहीं लोहरदगा जिले के आवेदक के आवेदन को खरिज कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें :31 जुलाई को जैक जारी कर सकता है मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट

रांची, कोडरमा और दुमका की फाइल भी एजी के पास, सरायकेला में होंगे दो व्यापारी

लोहरदगा और जामताड़ा के अलावा रांची, दुमका और कोडरमा की फाइल भी महाधिवक्ता के पास है. कुछ कागजी त्रुटियां इनके आवेदन में पायी गयी है. महाधिवक्ता से मनतव्य के बाद इन्हें लाइसेंस निर्गत किया जाएगा.

वहीं पूरे राज्य में सरायकेला ही एक ऐसा जिला है जहां दो-दो थोक शराब विक्रेताओं का चयन किया गया है. हालांकि थोक विक्रेता की चयन प्रक्रिया पर पूरी तरह से रोक नहीं लगी है. भविष्य में जरूरत देखते हुए उत्पाद विभाग इसपर निर्णय लेगा.

इसे भी पढ़ें :Breaking News : क्रुणाल पांडया Corona पॉजिटिव, भारत औऱ श्रीलंका के बीच दूसरा टी-20 मैच स्थगित

Advt

Related Articles

Back to top button