न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

2022 तक पलामू को बैकवर्ड जिलों की सूची से बाहर निकालना है : प्रधान

23

Daltonganj : पलामू जिले को पिछड़े से अग्रणी जिला बनाने की पहल तेज कर दी गयी है. इस सिलसिले में केन्द्र सरकार द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है. नीति आयोग ने स्वास्थ्य, शिक्षा, बिजली, वित्तीय समावेशन, सड़क और कौशल विकास रूपी छह एजेंडे तय किये हैं, जिन क्षेत्रों में विकास किया जाना है. 

इसे बी पढ़ें – मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया आचार संहिता का उल्लंघन! चुनाव आयोग ने कहा “लेंगे संज्ञान”

113 जिला अति पिछड़े जिले के रूप में चिन्हित

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने देश भर के 113 जिलों को अति पिछड़े जिले के रूप में चिन्हित किया है. इस सूची में नक्सल प्रभावित पलामू जिले का 60वां स्थान है. इन जिलों में विकास के लिए विशेष अभियान चलाया जाना है और इसके लिए राज्य का प्रभारी भारतीय पुलिस सेवा के वरीय पदाधिकारी एसएन प्रधान को बनाया गया है. केन्द्र सरकार की इस योजना के तहत पलामू जिले में उठाये जा रहे कदमों की समीक्षा करने के लिए श्री प्रधान शुक्रवार को डालटनगंज पहुंचे. उन्होंने जिले के उपायुक्त अमीत कुमार और पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहथा समेत जिले के अन्य वरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि 2022 तक पलामू को बैकवर्ड जिलों की सूची से बाहर निकालना है. उन्होंने इसके लिए सामुहिक और इमानदार प्रयत्न पर जोर दिया.

इसे भी पढ़ें – 500 करोड़ रुपये की लागत से गढ़वारोड-सोननगर के बीच बिछेगी तीसरी लाइन, रेलयात्रियों को मिलेगी राहत

बैठक में ये थे मौजूद

बैठक में उप विकास आयुक्त बिंदु माधव सिंह, जिला योजना पदाधिकारी अरविंद कुमार, जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार और प्रशिक्षु आईएएस चंदन कुमार सहित अन्य लोग मौजूद थे.

pal2

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: