न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

2019: नये साल में मस्ती के लिए तैयार हैं रांची के पिकनिक स्पॉट

कहीं मनोरम दृश्य तो कहीं उचांईयों से गिरता झरने का पानी पिकनिक में लगाते है चार चांद

301

Chandan Choudhary

mi banner add

Ranchi: नया साल 2019 आने में बस कुछ ही दिन शेष बचे है. ऐसे में लोग नये साल की छुट्टी कैसे और कहां सेलिब्रेट करेंगे, इसकी तैयारी में लग गये है. कुछ पार्क, तो कुछ फॉल घूमने जाने का प्लान बना रहे है. प्रकृति की गोद में बैठकर हर कोई अपने परिवार-दोस्तों के साथ पिकनिक मनाना चाहता है. ऐसे में राज्य के पर्यटनों स्थलों को भी पर्यटकों के लिए तैयार किया जा रहा है. राजधानी रांची से महज 30 किमी की दूरी पर ही कई फॉल अवस्थित है. जहां जाकर लोग पिकनिक का आनंद लेते हैं. सिर्फ छह दिन बाद नये साल की खुशियां दस्तक देने वाली है.  इसकी तैयारियां जहां स्टूडेंट्स और यूथ ने शुरू कर दी हैं, वहीं राजधानी रांची के आसपास के कई पिकनिक स्पॉट भी सज-धजकर सैलानियों के स्वागत के लिए तैयार हैं. चाहे पहाड़ियों से गिरते वाटर फॉल हो या पार्क, पतरातू घाटी हो या हटिया, रुक्का डैम हो धुर्वा डैम, चांडिल डैम या कांके डैम. प्रमुख स्पॉटों में हिरनी फॉल, डियर पार्क, रॉक गार्डेन, हटिया डैम, सिदो-कान्हू पार्क, मछली घर शामिल हैं. इन स्थानों पर एक जनवरी के दिन हजारों की संख्या में लोग पिकनिक मनाने पहुंचते हैं.

आइए डालते है राजधानी के प्रमुख पिककिन स्पॉट पर एक नजर

दशम फॉल: रांची से लगभग 34 किमी की दूरी पर स्थित दशम फॉल बेहद आकर्षक है. यह रांची-टाटा रोड पर तैमारा गांव के पास है. यहां कांची नदी का पानी करीब 144 फिट की ऊंचाई से नीचे गिरता है. आसपास की हरियाली इसे और मनमोहक बनाती है. वैसे तो सालों भर यहां सैलानी आते रहते हैं. लेकिन, एक जनवरी में लोगों की भीड़ ज्यादा रहती है.

हुंडरू फॉल: हुंडरु फॉल रांची से करीब 45 किमी दूर रांची-पुरुलिया रोड पर स्थित है. इस फॉल का मुख्य आकर्षण है यहां स्वर्णरेखा नदी से  320 फिट की उंचाई से पानी झरने के रुप में नीचे गिरता है. झरने के नीचे लोग पिकनिक मनाने आते हैं और फॉल में नहाने का भी आनंद लेते हैं. फॉल में आने वाले लोग खाना बनाने और एक साथ बैठकर खाना खाने का आनंद लेते है. इसके अलावा मनोरजंक गेम भी खेलते हैं.

जोन्हा फॉल: रांची से मात्र 45 किमी दूरी पर जोन्हा फॉल है. इसे गौतमधारा भी कहा जाता है. यहां पर गौतम बुद्ध का मंदिर बना हुआ है. फॉल से नीचे उतरने के लिए सीढ़ियां बनी हुई हैं. जोन्हा फॉल में 43 मीटर उपर से पानी गिरता है, जो काफी खुबसूरत नजर आता है. फॉल के आस-पास बैठकर लोग पिकनिक का आनंद लेते हैं.

Related Posts

लोहरदगा: हार्डकोर नक्सली फुलेश्वर गंझू गिरफ्तार, कई आपराधिक घटनाओं में रही संलिप्तता

भाकपा माओवादी जोनल कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते में करता था काम

रॉक गार्डेन: राजधानी रांची के कांके रोड में स्थित रॉक गार्डेन भी पिकनिक मनाने के लिए मनोरम स्थलों में से एक है. यहां के बगीचे में रंग-बिरंगे फूल हैं. इसे गार्डेन ऑफ जयपुर की तर्ज पर संवारा गया है. ऊंची पहाड़ी के कारण यहां से शहर के बड़े हिस्से को कैमरे में कैद किया जा सकता है. नववर्ष के मौके पर हजारों की संख्या में यहां लोग नये साल का जश्न मनाने पहुंचते हैं. प्रबंधन की और से भी नव वर्ष के स्वागत की तैयारी की जाती है. यहां पर पिकनिक मनाना काफी सुहाना रहता है.

बिरसा जैविक उद्यान: रांची-रामगढ़ रोड पर स्थित बिरसा जैविक उद्यान, चिड़ियाघर में भी पिकनिक का आनंद लिया जा सकता है. प्रकृति के बीच हरे-भरे पेड़-पौधे और जीव जंतुओं के बीच पिकनिक मनाने का आनंद ही कुछ और है. इस उद्यान में एक साथ कई जीव-जंतुओं और रंग-बिरंगे पक्षियों को को रखा गया है. नौकायन और बैट्री चालित रिक्शा पर बैठकर उद्यान का भ्रमण किया जा सकता है.

पतरातू डैम: यह एक सुंदर पर्यटन स्थल है और पूरे वर्ष विशेष रूप से सर्दियों के मौसम के दौरान लोगों का एक बड़ा सदस्य पिकनिक के लिए यहां जाता है. बांध के बगल में एक सर्किट हाउस है. बांध के नजदीक पंचवाहिनी मंदिर एक प्राचीन मंदिर है और इसके धार्मिक मूल्य के लिए महत्वपूर्ण है. बीते कुछ वर्षों में पतरातू डैम एक बेहद ही खुबसूरत पिककिन स्पॉट के रुप में उभर कर सामने आया है. लोग यहां घाटी का आनंद लेने आते है. इसके अलावा नौकायन करके भी डैम का आनंद लिया जाता है.

पंचघाघ फॉल: रांची-चक्रधरपुर रोड पर खूंटी से मात्र छह किमी की दूरी पर यह फॉल स्थित है. रांची से इसकी दूरी करीब 40 किमी है. इस फॉल से बनाई नदी की पांच धाराएं एक साथ मिलकर नीचे गिरती हैं, जो सबकी निगाहों को अपनी ओर खींचती हैं. वास्तव में यह पांच झरनों का एक समूह है, जिसे देहाती भाषा में पंच घाघ कहा जाता है. लोग झरने के पास ही पिकनिक मनान ज्यादा पसंद करते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: