न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

2016 के मुकाबले 2017 में हत्याओं में आयी 40% कमी : खूंटी एसपी

68

NEWSWING

Khunti, 09 December : जिला के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने कहा कि खूंटी में वर्ष 2016 के मुकाबले 2017 में हत्या की घटनाओं में लगभग 40 फीसदी की कमी आयी है. जबकि नक्सलियों और अपराधियों की गिरफ़्तारी के मामले में काफी वृद्धि हुई है. वर्ष 2017 में 400 से अधिक नक्सली व अपराधी गिरफ्तार किये गए हैं. एसपी सिन्हा ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देते हुए यह बाते कही.

इसे भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ में CRPF जवान ने की सहकर्मियों पर फायरिंग, चार की मौत

लोगों में पुलिस के प्रति बढ़ा विश्वास

एसपी ने कहा कि कुछ मामलों को छोड़कर पिछले एक साल में जिले में आम लोगों में पुलिस के प्रति काफी विश्वास बढ़ा है. जिसके कारण पुलिस को यह सफलता मिली है. एसपी के अनुसार पिछले साल हत्या की 89 घटनाओं के मुकाबले इस वर्ष सिर्फ 58 घटनाएं हुई. जिसमें नक्सली घटनाओं की संख्या सिर्फ 7 है. वहीँ एसपी ने हाल में हुए भाजपा नेताओं की हत्या मामले के सम्बन्ध में कहा कि पिछले दिनों हुई हत्या की तीन घटनाओं में दो घटनाएं आपसी विवाद को लेकर हुई हैं. जबकि सिर्फ एक घटना में मामला लेवी से जुड़ा हुआ है. जिसका उद्भेदन पुलिस ने कर लिया है. एसपी ने भरोसा दिलाया कि विकास कार्यों से जुड़े सभी नेताओं की सुरक्षा को लेकर पुलिस तत्पर है और इस संबंध में जानकारी मिलते ही वैसे लोगों को सुरक्षा उपलब्ध कराया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : बकोरिया कांड का सच-05ः स्कॉर्पियो के शीशा पर गोली किधर से लगी यह पता न चले, इसलिए शीशा तोड़ दिया

जल्द होगी PLFI सुप्रीमो सहित अन्य की संपत्ति जब्त

एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने कहा कि पुलिस उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के शीर्ष उग्रवादियों के खिलाफ विशेष मुहीम छेड़ते हुए उनकी संपत्तियों को जप्त करने की कार्रवाई शुरू करने की तैयारी में है. जल्द ही पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप की संपत्ति जप्त करने की कार्रवाई शुरू की जाएगी. संगठन के सबजोनल कमांडर जीदन गुड़िया की संपत्ति लगभग जप्त कर लेने का दावा करते हुए एसपी ने कहा कि उग्रवादी तिल्केश्वर की संपत्ति भी जप्त की जायेगी. जिले में उग्रवादी संगठनो को विकास कार्यों में लगे ठेकदारों से मिलने वाली लेवी पर भी नजर है. ऐसे ठेकेदारों को भी चिन्हित करने की तैयारी खूंटी पुलिस करने जा रही है. जिससे उग्रवादियों का आर्थिक श्रोत पर अंकुस लगाया जा सके. बता दें कि कुछ दिन पूर्व भाजपा नेता भैया राम मुंडा हत्याकांड मामले में ठेकेदार अमरजीत मिश्रा द्वारा लेवी दिये जाने की बात सामने आयी थी और गिरफ्तार उग्रवादियों ने इसका खुलासा भी किया था.

इसे भी पढ़ें : दंगे हर घर तक पहुंच गये हैं, भारत धीरे-धीरे गृह युद्ध की तरफ बढ़ रहा : कन्हैया कुमार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: