JharkhandRanchi

#Corona संक्रमण की चुनौती के बीच सेवा देने और विधि व्यवस्था संभालने में लगे हैं 2000 इंजीनियर, सरकार से मांगा पीपीई किट

Ranchi: कोरोना महामारी के खतरे के बीच लगभग 2000 इंजीनियर राज्य में अलग-अलग जगहों पर अपनी सेवा दे रहे हैं.

Advt

रांची के हिंदपीढ़ी से लेकर बोकारो, हजारीबाग, गिरिडीह और अन्य जिलों में भी लॉ एंड ऑर्डर संभालने में उनसे मदद ली जा रही है.

इंजीनियरों के संगठन डिप्लोमा अभियंता संघ ने राज्य सरकार से ड्यूटी पर लगे साथियों के लिए पीपीई किट और अन्य जरुरी सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की है.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown: धनबाद के बाद अब बोकारो डीसी ने निजी स्कूलों को लॉकडाउन अवधि का मासिक शुल्क नहीं लेने को कहा

हॉट स्पॉट में भी लगी है इंजीनियरों की ड्यूटी

डिप्लोमा अभियंता संघ ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर ड्यूटी पर लगे इंजीनियरों के लिए पीपीई किट उपलब्ध कराने की मांग की है.

संघ के महामंत्री गुप्तेश्वर राम के अनुसार कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच भी इंजीनियर लोग अपनी सेवाएँ दे रहे हैं. विधि व्यवस्था संभालने में भी उनका सहयोग लिया जा रहा है.

रांची के हिंदपीढ़ी में ड्यूटी पर लगे तक़रीबन 25 इंजीनियरों के मन में लगातार भय बना हुआ है. कोरोना संक्रमण से एक व्यक्ति के गुजर जाने की ख़बरों के बीच यह डर ज्यादा हो गया है.

इसी तरह से पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अलावा पथ निर्माण, ग्रामीण विकास, भवन निर्माण, सिंचाई, लघु सिंचाई और अन्य विभागों से जुड़े सहयोगी राज्य सरकार के निर्देशों पर राज्यभर में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं.

कोरोना महामारी में संक्रमण का खतरा बना रहता है. ऐसे में खासकर उन इंजीनियरों की सुरक्षा के बारे में सोचा जाना चाहिये जो हॉट स्पॉट और संदिग्ध क्षेत्रों में ड्यूटी दे रहे हैं.

यहां तक कि कोरोना उपचार के लिए निर्धारित किये गए अस्पतालों में भी भवन निर्माण विभाग के इंजीनियरों के पास पीपीई कीट, सैनीटाईजर, मास्क उपलब्ध नहीं कराये गये हैं.

इसे भी पढ़ें : #CoronaOutbreak: 29 अप्रैल से रांची में नहीं होगा महिला वर्ग का जूनियर नेशनल हॉकी टूर्नामेंट 

इंजीनियरों को जारी किये जायें विशेष पास

डिप्लोमा संघ के अनुसार लॉ एंड ऑर्डर और जरुरी सेवाओं को उपलब्ध कराने में लगे इंजीनियरों को जिला प्रशासन के स्तर से विशेष पास जारी किये जाने चाहिये.

पास के अभाव में जहां-तहां उन्हें पुलिस और अन्य स्तर से परेशानी उठानी पड़ती है. इससे निर्धारित स्थान पर ड्यूटी के लिए जाते समय विलंब भी होता है.

इसे भी पढ़ें : #Corona : दिल्ली से कार से धनबाद पहुंचे सांसद पीएन सिंह, किये गये होम क्वारंटाइन

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button