National

200 नये सांसदों को पॉश लुटियन इलाके में अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस नये डुप्लेक्स मिलेंगे

NewDelhi : सत्रहवीं लोकसभा के लिए चुन कर आये लगभग 200 नये सांसदों को लुटियन दिल्ली स्थित नॉर्थ एवं साउथ एवेन्यू में नये घर मिलेंगे. आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने पहली बार चुन कर आये सांसदों के लिए लुटियन दिल्ली स्थित नॉर्थ एवं साउथ एवेन्यू में नये घरों का इंतजाम कर लिया है. केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग ने परियोजना के पहले चरण में नार्थ एवेन्यू में आवास बना कर इन्हें संपदा विभाग को नये सांसदों को आवंटन के लिए  सौंप दिया है.

परियोजना के अगले चरण में साउथ एवेन्यू में भी घर बनाये जायेंगे.  विभागीय अधिकारी ने बताया कि नॉर्थ एवेन्यू में अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस 36 नये डुप्लेक्स घर आवंटन के लिए तैयार हैं.  बताया कि सात कमरों वाले प्रत्येक घर में संसद सदस्य को अपने कार्यालय के संचालन की भी जगह दी गयी है.  पूरी तरह से हरित भवन तकनीकी पर आधारित इन घरों में सौर ऊर्जा से बिजली की अधिकतर जरूरत पूरी की जायेगी.

इसे भी पढ़ें- मालदीव के बाद श्रीलंका पहुंचे पीएम मोदी,  ईस्टर धमाकों में मारे गये लोगों को श्रद्धांजलि दी

प्रत्येक घर में वाहन के लिए भूमिगत पार्किंग की सुविधा

प्रत्येक घर में वाहन के लिए भूमिगत पार्किंग की भी सुविधा है जिससे सांसदों के घर के आसपास वाहनों की वजह से पैदल रास्ते अवरुद्ध न हों.  दो वाहनों की पार्किंग सुविधा के साथ प्रत्येक घर में पार्किंग स्थल से भूतल और पहली मंजिल पर जाने के लिये लिफ्ट की भी व्यवस्था है. परियोजना के तहत कुल 180 डुप्लेक्स घर बनाने का लक्ष्य है.  यह काम चरणबद्ध तरीके से होगा.  पहले चरण में बने 36 घरों के आवंटन के साथ नॉर्थ और साउथ एवेन्यू में पहले से मौजूद सांसद आवास भी फिलहाल आवंटित किये जायेंगे. नये घरों के निर्माण के साथ ही, पुराने आवास में रह रहे सांसदों को नये आवास आवंटित होंगे.

इसे भी पढ़ें- कोझिकोड में राहुल का रोड शो, कहा, केरल प्रधानमंत्री कार्यालय और नागपुर से नहीं चलेगा

सांसदों को दिल्ली में सरकारी आवास की सुविधा मिलती है

बता दें  कि प्रत्येक सांसद को दिल्ली में सरकारी आवास की सुविधा मिलती है. लुटियन दिल्ली में मौजूद टाइप आठ और टाइप सात श्रेणी के बंगले, केन्द्रीय मंत्रियों और वरिष्ठ सांसदों को आवंटित होते हैं.  जबकि पहली चुन कर आये सांसदों के लिये नॉर्थ और साउथ एवेन्यू में पांच कमरे वाले फ्लैट मौजूद हैं.  इनमें जगह की कमी और पार्किंग आदि की समस्याएं 2014 में सामने आने के बाद तत्कालीन आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री एम वेंकैया नायडू ने सांसदों के लिए नये आवास बनाने की परियोजना को हरी झंडी दी थी.

लगभग 450 वर्ग मीटर क्षेत्र में बने नये घरों में चार बेडरूम, दो ऑफिस रूम और एक बैठक सहित सात कमरे हैं.  घर के आगे और पीछे बागवानी के लिये जगह छोड़ी गयी है. बेसमेंट में पार्किंग के साथ ही सांसद के वाहन चालक के लिए भी एक कमरा बनाया गया है.  प्रत्येक घर में इंटरनेट और पीएनजी गैस कनेक्शन की सुविधा भी है.  नवनिर्मित आवासीय परिसर अगले सौ साल की जरूरतों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है.  तीन ब्लॉक वाले आवासीय परिसर के प्रत्येक ब्लॉक में 12 डुप्लेक्स घर बनाये गये हैं

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close