Lead NewsNationalNEWSTOP SLIDER

कोयले की कमी से देश के 20 थर्मल पावर स्टेशन बंद, राज्यों ने कोयले के लिये केंद्र से लगाई गुहार

New Delhi: बेशक, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह कोयला कमी के संकट के अनावश्यक दहशत करार दे रहे हों, लेकिन सच्चाई यह है कि कोयले की कमी के कारण देश 20 थर्मल पावर स्टेशन बंद हो चुके हैं. इसके साथ ही देश के कई अन्य पावर प्लांट कोयले की कमी से क्रिटिकल या सुपरक्रिटिकल स्टेज पर है. यानी इनके पास अगले दो-चार दिनों के लिये ही कोयला है. विभिन्न राज्यों में कोयले की कमी से संकट की स्थिति बन चुकी है या बनने वाली है.

इसे भी पढ़ेंःभारत की चीन को खरी-खरीः टकराव वाले सभी स्थानों पीछे हटें और मई 2020 से पूर्व की स्थिति बहाल करें

बंद हुए 20 पावर प्लांट में पंजाब के तीन, केरल के चार और महाराष्ट्र में 13 थर्मल पावर स्टेशन शामिल हैं. कर्नाटक और पंजाब के मुख्यमंत्रियों ने केंद्र से अपने राज्यों में कोयले की आपूर्ति बढ़ाने का अनुरोध किया है. महाराष्ट्र के ऊर्जा विभाग ने नागरिकों से बिजली बचाने का आग्रह किया है. केरल सरकार ने भी चेतावनी दी है कि उन्हें लोड-शेडिंग का सहारा लेना पड़ सकता है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंःभारत की चीन को खरी-खरीः टकराव वाले सभी स्थानों पीछे हटें और मई 2020 से पूर्व की स्थिति बहाल करें

इधर, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने रविवार को कहा था कि दिल्ली में बिजली की कोई कमी नहीं है. उन्होंने आश्वासन दिया कि आगे भी कोयले की आपूर्ति बनी रहेगी. आर के सिंह ने कहा कि देश प्रतिदिन कोयले की औसत आवश्यकता से चार दिन आगे है और इस मुद्दे पर एक अनावश्यक दहशत पैदा की जा रही है. राज्य निश्चित रूप से घबराते दिख रहे हैं. केंद्र का मानना ​​है कि चिंता करने की जरूरत नहीं है.

Related Articles

Back to top button