JharkhandRanchi

दिसंबर में 2.50 लाख व्हिस्की और जनवरी में अब तक 78 हजार बीयर की बोतल बिकी

Ranchi: झारखंड में कोरोना के बढ़ते मामले की वजह से लगायी गयी पाबंदियों का असर शराब की बिक्री पर भी देखने को मिल रहा है. सरकार के आदेश के बाद दुकानें शाम 8 बजे तक बंद हो जा रही है. इसी आदेश के दायरे में शराब की दुकाने भी आ रही हैं. इस वजह से बिक्री में असर देखने को मिल रहा है. उत्पाद और मद्य निषेध विभाग के आंकड़े से यह समझा जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : अंतरराष्ट्रीय कराटे प्रतियोगिता में भारतीय टीम के खाते में झारखंड के खिलाड़ियों ने जोड़े 15 पदक

विभागीय आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर माह के मुकाबले राज्य में जनवरी में शराब की बिक्री काफी कम हुई है. जनवरी माह में बिक्री के आंकड़े की बात करें तो बीते 15 दिनों में बियर के 78 हजार 30 बोतल बिके हैं. वहीं रम के 24473 और कंट्री लिकर (देसी शराब) के 63 हजार से अधिक बॉटल और पाउच बेचे गये.

इसे भी पढ़ें : SBM को गति देने के लिए 18 पदों पर नियुक्ति करेगा पेयजल विभाग, 60000 तक मिलेंगे मानदेय

अब बात करें साल 2021 के दिसंबर महीने की तो दिसंबर में व्हिस्की के 2.50 लाख बॉटल राज्यभर में बेचे गये. कंट्री लिकर का सेवन 2.27 लाख से अधिक लोगों ने किया. दिसंबर माह में रम के 49943 बोतल और बियर के डेढ़ लाख से अधिक बोतल बेचे गये हैं

इसे भी पढ़ें : कोरोना का साइडइफेक्ट: पढ़ रहे लेकिन लेसन नहीं रहता याद, पढ़ाई भी अब नहीं करना चाहते बच्चे

जानकारी के अनुसार राज्य में 43 शराब के आपूर्तिकर्ता हैं, जो विभिन्न ब्रांड के शराब को बॉटलनुमा पैक और केन में उपलब्ध कराते हैं. ये शराब के ब्रांड 16 सौ से अधिक रीटेलरों के जरिये लोगों तक पहुंचते हैं.  दिसंबर माह में 93 हजार से अधिक परमिट शराब के आपूर्तिकर्ताओं को दिये गये, जिसके माध्यम से रीटेलरों तक शराब की खेप पहुंची. बताते चलें कि राज्य में राजस्व संग्रहण का एक बड़ा विभाग उत्पाद विभाग रहा है. ऐसे में शराब की बक्री से सरकार को 500 करोड़ से अधिक का राजस्व मिलता है.

इसे भी पढ़ें : BIG NEWS : स्कूली पाठ्यक्रम बदलने की तैयारी तेज, 10 प्लस टू की जगह फाइव प्लस थ्री प्लस थ्री प्लस फोर का पैटर्न होगा लागू

Advt

Related Articles

Back to top button