JamshedpurJharkhand

महिलाओं के आर्थिक स्वावलंबन की दिशा में सार्थक कदम है मशरूम की खेती :  राजकुमार सिंह

पूर्वी हलुदबनी तथा उत्तरी सरजामदा में मशरुम खेती के प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

Jamshedpur :  जिले के उत्तरी सरजामदा तथा पूर्वी हलुदबनी पंचायत में उद्यान विकास योजना 2021-22 के अंतर्गत चलाये जा रहे पांच दिवसीय मशरूम उत्पादन प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन हो गया. समापन के अवसर पर जिला परिषद उपाध्यक्ष राजकुमार सिंह तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रवीण कुमार मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे. इस मौके पर जिला परिषद अध्यक्ष राजकुमार सिंह ने बताया कि महिलाओं के स्वावलंबन की दिशा में यह काफी अच्छा कदम है. उन्होंने ज्यादा से ज्यादा संख्या में महिलाओं से इस कार्यक्रम से जुड़ने की अपील की. दोनों पंचायतों में चलाये गये प्रशिक्षण कार्यकम के समापन के मौके पर उत्तरी सरजामदा की मुखिया सुमी केराई, जिला परिषद सदस्य राणा डे, मिथिलेश कालिंदी, दक्षिण सरजामदा की मुखिया कुंबलेन हेरेंज तथा पूर्वी हलुदबनी की मुखिया पानो मुर्मू उपस्थित थे. इस मौके पर प्रशिक्षण लेनेवाली महिलाओं को सर्टिफिकेट भी प्रदान किये गये.

पूर्वी हलुदबनी तथा उत्तरी सरजामदा पंचायत में महिला सहायता समूहों को मशरूम की खेती करने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. ताकि महिलाएं स्वावलंबी हो सकें. दोनों स्थानों पर स्थानीय मुखिया पानो मुर्मू तथा सुमी केराई ने इस दिशा में पहल की थी. इसका सकारात्मक नतीजा सामने आया है. टीआरसीएस के सहयोग से करीब एक दर्जन महिला समूह केंद्र-राज्य की महत्वाकांक्षी योजना का लाभ लेते हुए प्रशिक्षण ले रही हैं. उत्तरी सरजामदा में नीहारिका तथा पूर्वी हलुदबनी में राजेश शर्मा ने महिलाओं को प्रशिक्षण दिया. राजेश शर्मा ने बताया कि बहुत ही कम जगह में तकनीक से लैस होकर मशरूम की खेती करने से महिलाएं घर बैठे हजारों रुपये कमाकर परिवार का भरण-पोषण कर सकती हैं. इस कार्यक्रम को लेकर क्षेत्र में जागरुकता अभियान भी चलाया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक महिलाएं इस प्रशिक्षण का लाभ उठा सकें.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – गया में सेक्स रैकेट का खुलासा, 15 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

Related Articles

Back to top button