JamshedpurJharkhandOpinion

जल सत्याग्रह की पूर्व संध्या पर जुस्को एमडी की सफाई से कितने संतुष्ट होंगे सरयू राय !

गेल के पाइपलाइन में अड़ंगेबाजी और केबुल बस्ती में पेयजल कनेक्शन नहीं देने को लेकर विधायक के निशाने पर है जुस्को

Special correspondent 

Jamshedpur : केबुल टाउन बस्ती में जुस्को द्वारा घर-घर पेयजल का कनेक्शन नहीं दिये के खिलाफ रविवार, 16 जनवरी से शुरू हो रहे विधायक सरयू राय के जल सत्याग्रह की पूर्व संध्या पर टाटा स्टील यूटिलिटीज एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर सर्विसेस लिमिटेड (पूर्व नाम जुस्को) ने अपनी सफाई दी है. पहले गैस पाइपलाइन और फिर पेयजल कनेक्शन के मुद्दे पर पिछले एक हफ्ते में दो बार सरयू राय के निशाने पर आयी जुस्को के प्रबंध निदेशक तरुण डागा ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में शहर के लिए भावी योजनाओं का जिक्र तो किया, लेकिन दर हकीकत कंपनी की यह कवायद विधायक सरयू राय द्वारा उठाये गये मुद्दों की सफाई पर ही केंद्रित दिखी.

बता दें कि पिछली 8 जनवरी को गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लि. (गेल) के अधिकारियों ने जमशेद्पुर पूर्वी के विधायक सरयू राय से मुलाकात कर कहा था कि जुस्को जमशेदपुर में सीएनजी और पीएनजी की पाइप लाइन बिछाने के काम में सहयोग नहीं कर रहा है. जुस्को से उन्हें रूट मार्किंग का विस्तृत विवरण नहीं मिल रहा है, इसके बाद विधायक श्री राय ने पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त से गेल को पाइप बिछाने की राह में आनेवाली कठिनाइयों को दूर करने के लिए कदम उठाने का आग्रह किया था. यही नहीं, सरयू राय ने राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह से भी बात की थी की और कहा था कि राज्य सरकार जमशेदपुर को गैस सिटी बनाने के लिए गेल की राह में आने वाली कठिनाइयों को दूर करे.

इस मुद्दे पर जुस्को एमडी ने कहा कि शहर को बेहतर सड़क देने के साथ ही पानी-बिजली देने के लिए जुस्को कृतसंकल्प है. उन्होंने बताया कि शहर में पाइपलाइन के जरिये गैस की आपूर्ति करने के लिए गेल काम कर रहा है. हमारी कोशिश है कि जल्द से जल्द यह प्रोजेक्ट हकीकत बने, ताकि शहर के कार्बन फुटप्रिंट को भी कम किया जा सके.  केबुल टाउन में पानी के कनेक्शन के मामले पर अपनी सफाई देते हुए तरुण डागा ने कहा कि अभी केबुल कंपनी एनसीएलटी में है. ऐसे में कंपनी के जो प्रतिनिधि हैं, उनके निर्देश पर हमें काम करना पड़ रहा हैं. वहां पर हमने पानी-बिजली की सप्लाई रोकी नहीं है, बल्कि पानी-बिजली को इंडिविजुअल न देकर एक जगह दे रहे हैं, वहां से इसका लोगों में वितरण किया जा रहा है.

अब देखना है कि जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय कंपनी की इस सफाई से कितने संतुष्ट होते हैं और रविवार 16 जनवरी से होनेवाले उनके जल सत्याग्रह कार्यक्रम पर इसका कितना असर पड़ता है.

इसे भी पढ़ें – जमशेदपुर में फिलहाल ओवरब्रिज नहीं, लेकिन सड़कों के साथ भालूबासा, हावड़ा और मानगो ब्रिज का होगा कायाकल्प

 

Advt

Related Articles

Back to top button